\
अनलॉक रिव्यु: अंत तक एंटरटेन करती है ये दिलचस्प कहानी
Monday, June 29, 2020 11:49 IST
By Santa Banta News Network
कास्ट: हिना खान, कुशल टंडन, अदिति आर्य, ऋषभ सिन्हा

निर्देशक: देबात्मा मंडल

प्लेटफ़ॉर्म: ज़ी5

रेटिंग: ***

देबात्मा मंडल के निर्देशन में बनी और अमनप्रीत सिंह बेवली द्वारा लिखित वेब सीरीज 'अनलॉक' आपको एक काल्पनिक दुनिया में ले जाती है जो आपको सोचने पर मजबूर कर देती हैं कि डार्क वेब जैसी कोई चीज़ सच में है या नहीं और अगर ऐसा है तो क्या डार्क वेब सच में ऐसा ही दिखता है जैसा इस फिल्म में दिखाया गया है |

अनलॉक कहानी है चार दोस्तों सुहानी (हिना खान), अमर (कुशाल टंडन), रिद्धि (अदिति आर्य), और अनुभव (ऋषभ सिन्हा) की| सुहानी को अमर से प्यार हो जाता है जबकि अमर को सुहानी की रूममेट रिधी से प्यार है। कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब एक रात अनुभव (ऋषभ सिन्हा) सभी दोस्तों को डार्क वेब से परिचित कराता हैं, जहाँ कुछ भी और सब कुछ एक कीमत चुका कर पाया जा सकता है ।

अमर को पाने में सक्षम नहीं होने से निराश, सुहानी डार्क वेब पर जाती है और एक ऐप डाउनलोड करती है जो उसकी सबसे गहरी इच्छाओं को पूरा करने का वादा करती है, लेकिन एक शर्त के साथ कि उसकी इच्छा पूरी होने से पहले उसे तीन काम करने होंगे। अमर के लिए सुहानी का जुनून उसे डार्क वेब पर ले जाता है और वह अपना पहला काम पूरा करती है जिसके बाद वह खुद को एक हत्या में शामिल पाती है और आगे क्या होता है, ये है अनलॉक की बाकी कहानी।


अनलॉक में आपको कहानी कम और दिखावा ज्यादा देखने को मिलता है, मगर निर्देशन और हिना खान की एक्टिंग आपको अंत तक बाँध कर रखते हैं| अनलॉक की कहानी सच्चाई से कोसों दूर है लेकिन इसमें कुछ मोड़ हैं जो आपको आश्चर्यचकित करने में कामयाब रहते हैं| हालांकि फिल्म की राइटिंग कमज़ोर है और इस पर और काम किया जाना चाहिए था मगर फिल्म सिर्फ एक घंटे लंबी है इसलिए एडिटिंग डिपार्टमेंट यहाँ राइटिंग की कमी को थोडा बहुत दूर करने में सफल रहता है |

परफॉरमेंस की बात करें तो हिना खान 'सुहानी' की भूमिका में पूरी तरह से फिट बैठती हैं, उनके किरदार की जलन, डर, गुस्सा, चाल - चलन कहानी को सहारा देते हैं। अदिति आर्य, कुशल टंडन और रिषभ सिन्हा ने भी अपनी-अपनी भूमिकाओं में बढ़िया काम किया है।


अनलॉक का बैकग्राउंड म्यूज़िक इसके सबसे अच्छे पहलुओं में से एक है जो आपको डराता है और सिरहन पैदा करता है। कुछ जगह पर तो संगीत इतना अच्छा है कि कुछ ज्यादा ही भयानक लगता है।

कुल मिलाकर, ज़ी5 की अनलॉक में आपको धीमी व कमज़ोर कहानी मगर कुछ बढ़िया परफॉरमेंसेस, निर्देशन और संगीत मिलता है । अनलॉक आपको कुछ हॉलीवुड फिल्मों की याद भी दिला सकती है जो ऐसी ही अनदेखी और अनसुनी घटनाओं पर आधारित है । अगर आप थ्रिलर फिल्मों और अलौकिक दुनियाओं के बारे में सोचने और जानने के शौक़ीन हैं तो इसे देख सकते हैं।
Hide Comments
Show Comments