​फिल्म समीक्षा: 'हैप्पी एंडिंग' कुल मिलाकर मनोरंजक फिल्म
Saturday, November 22, 2014 12:39 IST
By Santa Banta News Network
​अभिनय: सैफ अली खान, इलियाना डीक्रूज़, कल्की ​कोचलिन, रणवीर शौरी, गोविंदा​

​ निर्देशन: राज और डीके​

​ रेटिंग: ***​

​ ​हैप्पी एंडिंग सैफ अली खान के होम-प्रोडक्शन में बनी छठी फिल्म है। जो अब से पहले पांच फिल्मों 'लव आजकल', 'कॉकटेल' एजेंट विनोद', 'गो गोवा गोन' और 'लेकर हम दीवाना दिल'​ का निर्माण कर चुके हैं। इनमें से 'लेकर हम दीवाना दिल' को छोड़कर बाकी सभी फिल्मों में सैफ ने खुद भी अभिनय किया था। वहीं 'हैप्पी एंडिंग' उनकी छठी फिल्म है, जो वैसे तो एक रोमांटिक कॉमेडी है, लेकिन सैफ का पसंदीदा स्टाइल हॉलीवुड टच इसमें भी साफ-साफ दिखाई देता है, जिसके लिए वह जाने जाते हैं।

​फिल्म की कहानी अरमान (गोविंदा)​, यूडी (सैफ अली खान), अर्चना (इलियाना डिक्रूज) के चारो और घूमती हैं। जिनमें अरमान एक सुपरस्टार हैं और यूडी-अर्चना लेखक हैं। आज जहाँ अरमान ​का स्टारडम ​डगमगाया हुआ है, वहीं यूडी की कलम भी बंद पड़ गई है। ऐसे में जब दोनों आपस में टकराते हैं तो एक दूसरे को अपने काम का पाते हैं। अरमान एक रोमांटिक कॉमेडी की स्क्रिप्ट यूडी को लिखने के लिए दे देता है। इसके बाद दोनों के फिल्म बनाने का सिलसिला शुरू होता है। वहीं फिल्म में मोन्टू​ ​(रणवीर शौरी), इलियाना डिक्रूज और डेंटिस्ट विशाखा (कल्कि कोचलीन)​ यूडी के दोस्त हैं। जिनमें से सब अपनी-अपनी तरह से परेशान हैं।

​फिल्म का स्क्रीन प्ले काफी साफ़-सुथरा है और अच्छा है, जो एक सतत चाल से चलता है और इसी ने फिल्म की कहानी को मनोरंजक बना दिया है। फिल्म की कहानी में कुछ नया ना होने के बावजूद फिल्म कुछ हिस्सों में काफी मनोरंजक है। जिसके बीच-बीच में आने वाले मनोरंजक दृश्य दर्शकों को बाँधने में कामयाब लगते हैं।

वहीं अगर फिल्म में अभिनय की बात करें तो सैफ अली खान, गोविंदा रणवीर, इलियाना और कल्की सभी ने अपने-अपने हिस्से का अभिनय अच्छे से निभाया है। सैफ अली खान एक गैर-जिम्मेवार दिल फैंक आशिक के तौर पर नजर आ रहे हैं, और अपने इस किरदार को कॉमेडी की फॉर्म में उन्होंने पहले से काफी बेहतर किया है। वहीं गोविंदा की भी यह दूसरी पारी की अच्छी शुरुआत कही जा सकती है। इलियाना और कल्की ने ठीक-ठाक अभिनय किया है। लेकिन रणवीर शौरी के अभिनय की सराहना करनी होगी, उनके हिस्से में ज्यादा कुछ करने के लिए था नहीं लेकिन अपने छोटे किरदार में वह रम से गए हैं।

हालाँकि फिल्म को सुपर हिट नहीं कहा जा सकता लेकिन, फिल्म फिर भी कुल मिलाकर एक बार देखने लायक जरूर है, जिसके कुछ मनोरंजक दृश्य और कुछ चीजों का इंतजार फिल्म से बाँध कर रखता है।
Hide Comments
Show Comments