फिल्म समीक्षा: 'ऊँगली' मजबूत मुद्दे के बावजूद ज्यादा प्रभावित नहीं कर पाती है
Saturday, November 29, 2014 15:02 IST
By Santa Banta News Network
अभिनय: इमरान हाशमी, रणदीप हुड्डा, संजय दत्त, कंगना रनोत, रजा मुराद, अंगद बेदी, नील भूपलम, नेहा धूपिया

निर्देशन: रेंसिल डी 'सिल्वा

रेटिंग: **

​ एक औसत दर्जे की फिल्म है 'ऊँगली' जो भ्रष्टाचार जैसे मुद्दे के इर्द-गिर्द घूमती है। बेहद पुराने मुद्दे को निर्देशक रेंसिल डिसिल्वा ने बेहद अलग ढंग से उठाया है और यही फिल्म का सकारात्मक पहलू है, लेकिन अगर वह उतने ही प्रभावी तरीके से फिल्म को पेश भी कर पाते तो फिल्म अपनी पटकथा और निर्देशन के लिए जबरजस्त फिल्मों में गिनी जा सकती थी।

फिल्म की कहानी एक ऐसे 'ऊँगली गैंग' की है जो भ्रष्टाचार से परेशान है और इस से अपने ही तरीके से निपटने की योजना बनाता है। यह गैंग अभय (रणदीप हुड्डा), माया (कंगना रणावत), गोटी (नील भूपलम) और कलीम (अंगद बेदी) ​चार दोस्तों का गैंग है। ​जो भ्रष्टाचार के खात्मे के लिए कानून के नियम तोड़ने में कोई हिचक नहीं मानते। वहीं ​निखिल (इमरान हाशमी) ​और ​​काले (संजय दत्त) ​ पुलिस की भूमिका में हैं, जिनका मकसद इस गैंग को पकड़ना है। लेकिन जब ये दोनों इस गैंग के पीछे लगते हैं तो इमरान गैंग का मकसद जानने के बाद पुलिस के कानून के दायरे से बाहर निकल कर उन्हीं के गैंग में शामिल हो जाता है।

​ फिल्म में अगर अभिनय की बात जाए तो फिल्म के कलाकारों फिर चाहे वह इमरान हाशमी हो रणदीप हुड्डा, कंगना रनोत या संजय दत्त हर किसी ने अपने किरदार के साथ न्याय किया है। वहीं सिर्फ अभिनय ही है जिसने फिल्म को सहन करने लायक बना दिया है। वहीं फिल्म के सह-कलाकारों जिनमें रजा मुराद, नील भूपलानी, अंगद बेदी, नेहा धूपिया, महेश मांजरेकर जैसे कलाकारों ने भी सराहनीय काम किया है।

फिल्म का संगीत तो इतना कुछ खास नहीं है, लेकिन इमरान हाशमी और श्रद्धा कपूर पर फिल्माया गाना 'डांस बसंती' फिल्म के लिए प्लस पॉइंट है। कुल मिलाकर कहा जाए तो फिल्म एक बार जरूर देखी जा सकती है।
Hide Comments
Show Comments