•  

    संता और बंता काफी सालो से अच्छे दोस्त थे, और अब दोनों की उम्र अब लगभग 90 के आसपास हो चुकी थी।

    एक बार संता बहुत बीमार पड़ गया तो बंता उससे रोज मिलने के लिए आता और रोज वे अपने दोस्ती के किस्से दोहराते।

    गुज़रते वक़्त के साथ संता और बंता दोनों को ही अब लगभग यकीन हो चला था कि संता अब बस चंद दिनो का ही मेहमान है, तो एक दिन बंता ने संता से कहा, ''देखो जब तुम मर जाओगे, तो क्या मेरे लिए एक काम करोगे?''

    संता: कौन सा काम?

    क्योंकि संता और बंता दोनों ही क्रिकेट के बहुत दीवाने थे इसीलिए बंता ने संता से कहा, "तुम मरने के बाद क्या मुझे यह बताओगे कि स्वर्ग में क्रिकेट है या नहीं?"

    संता: क्यों नहीं जरुर।

    और कुछ दिनों के बाद संता भगवान को प्यारा हो गया।

    कुछ दिन बाद बंता जब सो रहा होता है तो संता उसके सपने में आता है और कहता है, ''तुम्हारे लिए मेरे पास दो खबरें है. . .एक बुरी और एक अच्छी।

    बंता: तो पहले अच्छी खबर सुनाओ।

    संता: अच्छी खबर यह है कि स्वर्ग में क्रिकेट है।

    बंता:और बुरी खबर?

    संता: बुरी खबर यह है कि तुम्हें आनेवाले रविवार को होने वाले मैच में बॉलिंग करनी है।

  • जवानी के दिन! एक बार एक दादा - दादी ने जवानी के दिनों को याद करने का फैसला किया।
    अगले दिन दादा फूल ले कर वहीँ पहुंचा जहां वो जवानी में मिला करते थे, वहां खड़े-खड़े दादा के पैरों में दर्द...
  • घोड़ी का फ़ोन! एक बार एक पति अखबार पद रहा होता है की तभी अचानक पीछे से आकर उसकी पत्नी उसे ज़ोरदार घूंसा मारती है।
    पति दर्द से तडपता हुआ...
  • इज्ज़तदार खानदान! लड़की: अम्मी मैं शादी नहीं करुँगी और अगर ज़बरदस्ती तुम ने मेरी शादी की तो घर से भाग जाउंगी।
    माँ रोते हुए बोली, बेटी मैंने भाग के तेरे अब्बा के साथ शादी की
  • निजी सचिव का गुस्सा! एक बार एक सुंदर सी सचिव गुस्से मैं अपने प्रबंधक के कमरे से बाहर निकली तो उसकी एक सहेली ने उस से पूछा, "अरे क्या हुआ तू गुस्से में क्यों...
  • डॉक्टर से तो बढई भला! एक बार एक आदमी डॉक्टर के पास गया और बोला;

    आदमी: डॉक्टर साहब, मैं बहुत परेशान हूँ, जब भी मैं बिस्तर पर लेटता हूँ तो मुझे लगता है की बिस्तर के नीचे कोई है...