लोग अलग दुःख अलग!

आदमियों की उदासी के कारण:
धंधा (Bussiness) मंदा चल रहा है।
बाल उड़ रहे हैं।
क्रेडिट कार्ड का बिल भरना है।
परिवार की मांगे पूरी करनी है।
.
. .
. . .
औरतों की उदासी के कारण:
प्रोफाइल की फोटो बदले 2 मिनट हो गए हैं, अभी तक किसी ने पसंद नहीं किया।
पता नहीं सबको नया (recent ) आधुनिक (Updates) में दिख रहा है कि नहीं।
Send to your FB Contact's Inbox directly
Hide Comments
Show Comments
एक आदमी कश्ती से कहीं जा रहा था कि अचानक एक ज़ोरदार तूफ़ान की वजह से उसकी कश्ती पलट गयी। उसे तैरना नहीं आता था। वो प्रार्थना करने लगा, "भगवान अगर तुम...
कुछ लोग जब रात को अचानक फोन का बैलेंस ख़त्म हो जाता है इतना परेशान हो जाते हैं कि जैसे सुबह तक वो इंसान जिंदा ही नहीं रहेगा जिससे बात करनी थी।
कुछ लोग जब...
पर्दा प्रथा का पालन करने वाले घर में शहर की एक अल्हड़ कन्या का विवाह हो गया।
एक दिन बहु आंगन में सास के साथ बैठकर बातें कर रही थी कि अचानक ससुर जी को किसी काम से आंगन की ओर...
एक कंजूस आदमी के घर मेहमान आया।
कंजूस: भाईसाहब, ठंडा लेंगे या गरम?
मेहमान: ठंडा।
कंजूस: जूस या...
एक बार कुछ लड़कियां शहर से गाँव घूमने आई थी। जब वो वापस लौट रही थी तो रास्ते में जिस बस में वे सफर कर रहीं थी, कुछ डाकुओं ने उस बस को घेर लिया। बस लूटने वाले दो डाकुओं ने पिस्तौल दिखाकर बस जं...