हिसाब बराबर!

एक बार एक मरता हुआ पति अपनी पत्नी से अपराध स्वीकारोक्ति करते हुए बोला।

पति: प्रिये, दो साल पहले अलमारी से तुम्हारा गोल्ड सेट मैंने ही चोरी किया था।

पत्नी (रोते हुए): कोई बात नहीं जी।

पति: एक साल पहले तेरे भाई ने तुझे जो 1 लाख रूपए दिए थे वो भी मैंने ही गायब किये थे।

पत्नी: कोई बात नहीं मैंने आपको माफ़ किया।

पति: तेरी कमेटी के पैसे भी मैंने ही चोरी किये थे।

पत्नी: कोई बात नहीं जी, आपको ज़हर भी मैंने ही दिया है इसलिए हिसाब बराबर।
Send to your FB Contact's Inbox directly
Hide Comments
Show Comments
एक सीनियर सिटिजन अपनी नई कार 100 की स्पीड में चला रहे थे। चलते-चलते उन्होंने शीशे में देखा कि पुलिस की एक गाडी उनके पीछे लगी हुई है।
उन्होंने कार की स्पीड और बढ़ा दी। 140 फिर 150 और फिर 170...।
अचानक उन्ह...
क्यों बीवी के जन्मदिन का तोहफ़ा हर साल का सबसे बड़ा सवाल होता है?
आईये जानते हैं:
तोहफे में घड़ी दी।
बीवी: समय देखने से क्या मिलेगा... मेरा समय तो तभी से खराब हो गया जब मैंने तुमसे शादी की थी...
. ना इनकी दोस्ती अच्छी और ना ही दुश्मनी।
2. इनसे बनाकर रखना मजबूरी है।
3. इनका पता नहीं कब बिगङ जाऐं।
4. अगर ये प्यार से बात करे...
दोस्तो आज हम एक अजीब प्राणी के बारे में पढेंगे। इस जीव का नाम है `बीवी`।
यह अक्सर रसोई घर और टीवी के सामने पाई जाती है।
इनका पौष्टिक आहार...
एक दिन पति-पत्नी के बीच झगड़ा हो गया।
पति: बस-बस, बहुत हो चुका। आज तुमने मेरा दिल तोड़ दिया है। अब मैं इस घर में तुम्हारे साथ नहीं रह सकता। आज की लड़ाई हमारी अंतिम...