•  

    मेरी प्यारी बेगम।

    सवाल कुछ भी हो।

    जवाब तुम ही हो।

    रास्ता कोई भी हो।

    मंजिल तुम ही हो।

    दुःख कितना ही हो।

    ख़ुशी तुम ही हो।

    अरमान कितना ही हो।

    आरजू तुम ही हो।

    गुस्सा जितना भी हो।

    प्यार तुम ही हो।

    ख्वाब कोई भी हो।

    ताबीर तुम ही हो।

    "यानी ऐसा समझो कि सारे फसाद की जड़ तुम हो और सिर्फ तुम ही हो।"
  • शराबी मच्छर! संता: यार बंता क्या तुम्हें रात में मच्छर परेशान नहीं करते?
    बंता: कतई नहीं।
    संता: भला वो कैसे...
  • पति भक्त पत्नी! एक औरत अपने पति की कब्र पर पंखा झल रही थी।
    एक राहगीर उसकी यह पति भक्ति देखकर ठिठक कर रुक गया...
  • चोर भी डरते हैं! एक बार एक अँधेरी सड़क पर एक चोर ने संता को रोक लिया और बोला।
    चोर: तुम्हारी जेब में जो कुछ है फटाफट निकाल दो...
  • किस्मत का धनी! एक महिला के 3 दामाद थे।
    उसके दामाद उसे चाहते भी हैं या नहीं यह जानने के लिए एक दिन वह पहले दामाद को लेकर ताला...
  • संता भी बस संता ही है! संता का अपने बीवी (जीतो) से झगड़ा हो गया और वह गुस्से में जाकर घर के एक पेड़ पर लटक गया।
    जीतो ने लाख मनाने की कोशिश...