•  

    एक महिला एक बच्चे को गोद में उठाये हुए बस में चढ़ी।

    बस ड्राईवर ने उसके बच्चे कि तरफ देखा और कहा, "मैंने ऐसा बदसूरत बच्चा आज तक नहीं देखा।"

    महिला ने कन्डक्टर को किराया पकड़ाया और पीछे जाकर सीट पर बैठ गयी।

    उसे ड्राईवर की बात का बुरा लगा था, इसलिए वह थोड़ी उदास सी थी।

    उसके साथ बैठे आदमी ने पूछ लिया कि, "बहनजी क्या बात है? आप कुछ परेशान लग रही है।"

    महिला ने कहा, "अभी अभी ड्राईवर ने मेरी बेइज्जती की है।"

    उस आदमी ने उसे सहानुभूति देते हुए कहा, "क्यों? वह तो जानता का नौकर है उसे इस प्रकार यात्रियों की बेइज्जती नहीं करनी चाहिए।"

    महिला ने कहा, "आप ठीक कहते हैं, मुझे लगता है कि मुझे उसकी बदतमीजी का जवाब दे देना चाहिए जिससे मेरे मन को शांति मिले।"

    उस आदमी ने कहा, "ये बहुत अच्छी बात कही आपने, आप जाईये और.......... इस बंदर को मुझे दीजिये।"
  • किस्मत वाली गाडी! एक जगह पर गाड़ी कि नीलामी हो रही थी।
    10 लाख।
    15 लाख...
  • पति के साथ प्यार से कैसे रहें। उपरोक्त विषय पर औरतों का एक सेमीनार हो रहा था।
    उनसे एक सवाल किया गया कि आप अपने पति से कितना...
  • तुम्हें कैसे अंडे पसंद है? संता और जीतो की शादी हो गयी, संता ने सोचा ये एक नए ज़माने की शादी है इसलिए दोनों की जिम्मेवारियां बराबर होनी चाहिए...
  • जल्दबाजी ठीक नहीं! एक बार संता अपनी बीवी के साथ जा रहा था।
    रास्ते में उसे एक दोस्त मिला, जिसे पुलिस ने पकड़ा हुआ...
  • फर्क नज़रिए का! जीतो: तुम्हारे बेटे और बेटी की शादी हुई है, तुम्हारी बहु और दामाद कैसे हैं?
    पड़ोसन: मेरी बहु तो बहुत बुरी है, रोज़ लेट उठती है...