•  

    बेटा: पापा पॉलिटिक्स क्या है?

    बाप: तेरी माँ घर चलाती है उसे सरकार मान लो, मैं कमाता हूँ मुझे कर्मचारी मान लो, कामवाली काम करती है उसे मजदूर मान लो तुम देश की जनता, छोटे भाई को देश का भविष्य मान लो।

    बेटा: अब मुझे पॉलिटिक्स समझ में आ गयी पापा, कल रात मैंने देखा की कर्मचारी मजदूर के साथ किचन में मज़े ले रहा था, सरकार सो रही थी, जनता की किसी को फ़िक्र नहीं थी और देश का भविष्य रो रहा था।
  • लुकाछिपी बंद! पप्पू जब संता के साथ पिकनिक मना कर वापिस आया तो
    जीतो ने उसे पूछा: आज तो तुम्हें बहुत मज़ा आया...
  • वाह री किस्मत! संता और बंता दोनों छुट्टियां मना कर वापिस लौट रहे थे।
    रास्ते में उनकी कार खराब हो गयी। काफी देर तक...
  • महंगा मशवरा! एक पार्टी में एक वकील की पत्नी एक डॉक्टर से अपना रोना रो रही थी
    कि उसका पति बहुत दफा पार्टियों में उसके साथ जाने से मना कर देता है,
    क्योंकि वहाँ लोग...
  • माली की तनख्वाह! संता को अपने घर के छोटे से बगीचे में काम करने का बड़ा शौंक था।
    रोज़ दफ्तर से लौटने के बाद वह अपने छोटे से...
  • चेतावनी! पत्नी अपने पति का फ़ोन सुनने के बाद अपने प्रेमी से:
    मैं तुम्हें चेतावनी देती हूँ कि...