•  

    एक बार एक मरीज़ बड़ी दुखी सी हालत में डॉक्टर के पास आया।

    मरीज- डॉक्टर साहब, मेरा खड़ा नहीं होता।

    डॉक्टर: क्यों?

    मरीज़: पता नहीं डॉक्टर साहब, मैंने बहुत कोशिश की पर नाकाम ही रहा।

    डॉक्टर ने अपनी एक सेक्सी सी नर्स को अंदर बुलाया और उसे कपडे उतारने को कहा। नर्स ने अपने कपडे उतार दिए।

    डॉक्टर: देखो अब खड़ा हुआ?

    मरीज़: नहीं डॉक्टर साहब।

    डॉक्टर (नर्स से): अपनी ब्रा और पैंटी भी उतार दो।

    नर्स ने जैसा डॉक्टर ने कहा वैसा ही किया।

    डॉक्टर: अब देखो, अब खड़ा हुआ?

    मरीज़: जी नहीं, डॉक्टर साहब।

    डॉक्टर ने थोड़ी देर सोचा और मरीज़ से कहा, "ठीक है, तुम बाहर जाओ क्योंकि मेरा तो खड़ा हो गया है।"
  • सच बोलना भी पाप है! एक शादीशुदा आदमी का अपनी सेक्रेटरी के साथ अफेयर चल रहा था। एक दिन दोनों ऑफिस से सेक्रेटरी के घर चले गए और दोनों ने जमकर मज़े किये और आदमी वही सो गया। शाम को जब...
  • कुछ कामों में वक्त तो लगता ही है! संता ने ठेकेदारी का नया काम शुरू कर लिया और हर काम जल्दी-जल्दी निपटाने लगा। एक दिन जब संता घर आया तो पप्पू उसके पास आया और बोला, "पिताजी मुझे एक भाई चाहिये।"
    संता: कोई बात नहीं, बस...
  • मौत का राज़! एक बार एक गाँव में एक परिवार में 3 लोग रहते थे। बाप और उसके 2 बेटे। उनके पास एक भैंस थी। जिंदगी मज़े में चल रही थी कि अचानक एक दिन उनकी भैंस मर गयी । सारा परिवार उदास हो गया। एक रात को...
  • दिल्ली बंद! दिल्ली के एक मोहल्ले में एक बच्चा अपने घर में हमेशा नंगा घूमा करता था। घर में कोई भी आता, बच्चा नंगा ही मिलता और उसकी मां को ताने सुनना पड़ते।
    इस आदत से परेशान होकर उसकी मां ने...
  • अक्ल बड़ी या भैंस! एक बार एक डॉक्टर एक जंगल में आदमियों के एक कबीले में गया।
    डॉक्टर: तुम सब लोग यहाँ पर अपनी सेक्स की जरूरतों को...