•  

    एक बै एक जाट भाई अपनी एक नई रिश्तेदारी में चल्या गया, साथ में उसका नाई भी था।

    नई रिश्तेदारी थी, खातिरदारी में फटाफट गरमा-गरम हलवा हाजिर किया गया।

    दोनूं सफर में थक रहे थे, भूख भी करड़ी लाग रही थी। हलवा आते ही दोनूंआं नै चम्मच भरी और मुंह में गरमा-गरम हलवा धर लिया।

    ईब इतना गरम हलवा ना निगल्या जा और ना बाहर थूक्या जा। बुरा हाल हो-ग्या, आंख्यां में आंसू आ-गे।

    नाई ने हिम्मत करी और बोल्या, "चौधरी, के होया?"

    जाट बोल्या, "भाई, जब घर तैं चाल्या था, तै थारी चौधरण बीमार सी थी, बस उस की याद आ गी।"

    नाई की आंख्यां में भी पाणी देख कै जाट बोल्या, "र, तेरै के होया?"

    नाई बोल्या, "चौधरी, मन्नै तै लाग्गै सै चौधरण मर ली।"
  • मैं सीख रहा हूँ! एक बार एक गाँव में तीर-अंदाज़ी की प्रतियोगिता चल रही रही थी। 3 नकाबपोश आदमी उसमे भाग लेने के लिए आये।
    पहले नकाबपोश ने तीर चलाया और तीरा लक्ष्य के ठीक बीचों-बीच जाकर लगा। आदमी ने अपना नक़ाब उतारा और बोला, "मैं रॉबिन हुड हूँ...
  • फ़िल्मी प्यार! शाह रुख खान ने तो फिल्मों में प्यार की हद ही कर दी:
    कुछ-कुछ होता है: दोस्त से प्यार
    मोहब्बतें: प्रिंसिपल की बेटी से प्यार
    कल हो न हो: पडोसी...
  • चाँद सा चेहरा! लड़की: एक बात सुनो तुम मेरे लिए क्या कर सकते हो?
    लड़का: जो तुम कहो डार्लिंग।
    लड़की: क्या चाँद ला सकते हो?
    लड़का गया और कुछ चीज़ छिपा...
  • कंजूसी की हद! एक कंजूस आदमी जिंदगी भर अपने पुत्रों को कम से कम खर्च करने की हिदायतें देता रहा था। जब वह मरणासन्न स्थिति में पहुंच गया तो पुत्र आपस में मशवरा करने लगे कि किस प्रकार पिता की इच्छा के अनुसार कम से कम खर्च में उनकी अंतिम यात्रा निपटाई जाए...
  • ज्यादा समझदारी भी अच्छी नहीं! एक कंपनी का मालिक अपनी एक फैक्टरी में विजिट करने गया।
    वहाँ उसने देखा कि सारे कर्मचारी तो काम कर रहे थे लेकिन एक युवक एक कोने में आराम से खड़ा मोबाइल पर मैसेज पढ़ रहा था और मुस्कुरा रहा था।
    मालिक को यह देखकर और भी हैरत हुई कि...