•  

    पठान को किसी जुर्म में पुलिस पकड़ कर ले गयी।

    पुलिस अफसर ने पठान से पूछा, "क्या तुम लिख-पढ़ सकते हो?"

    पठान ने उत्तर दिया, "हुजूर, लिख तो सकता हूँ, पर पढ़ नहीं सकता।"

    "अच्छा! कागज पर अपना नाम लिखो।" पुलिस अफसर ने कहा।

    पठान ने कागज उठाकर उस पर टेढ़ी- मेढ़ी लकीरे खींच दी और कागज वापस कर दिया।

    "यह तुमने क्या लिखा है?" झुंझलाकर पुलिस अफसर ने कहा।

    पठान: साहब , मैंने पहले ही कहा था कि मैं लिख सकता हूं, पढ़ नहीं सकता।
  • आदमी तो आदमी ही हैं! एक व्यक्ति मरकर ऊपर पहुँचा तो स्वर्ग के द्वार पर उसे स्वयं चित्रगुप्त मिले।
    चित्रगुप्त बोले, "तुम एक शर्त पर भीतर आ सकते हो।"
    व्यक्ति: कौन सी शर्त प्रभु?
    चित्रगुप्त: तुम्हें एक शब्द जो कि...
  • सुखी जीवन के 10 सूत्र: 1) जानवरों से प्यार करो, वो स्वादिष्ट भी होते हैं।
    2) पानी बचाओ दारू पियो।
    3) फल और सलाद बहुत स्वास्थ्य प्रद...
  • एक भयानक सत्य कथा! भारत में प्रथम श्रेणी में पास होने वाले विद्यार्थी टेक्नीकल में प्रवेश लेते हैं और वह डॉक्टर या इंजिनियर बनते है।
    द्वितीय श्रेणी में पास होने वाले...
  • बीरबल की हाज़िर जवाबी एक बार बादशाह अकबर अपने दो बेटों के साथ नदी के किनारे गए। साथ में बीरबल भी थे। दोनों बेटों ने अपने कपडे़ उतारे और नदी में नहाने उतर गए। बीरबल को उन्होंने अपने कपड़ों की रखवाली करने के लिए कहा।
    बीरबल नदी किनारे बैठ कर उन...
  • आँख मिचोली! स्वर्ग के दरवाजे पर दस्तक हुई तो धर्मराज ने जाकर दरवाजा खोला। उन्होंने बाहर झाँका तो एक मानव को सामने खड़ा पाया। धर्मराज ने कुछ बोलने के लिए मुंह खोला ही था कि वो एकाएक गायब हो गया। धर्मराज ने कंधे उचकाए और फाटक बंद कर लिया।
    तत्काल फिर...