•  

    एक ट्रेन मेँ एक पंडित एक गुज्जर एक बनिया और एक जाट सफर कर रहे थे।

    पंडित ने रौब झाडते हुऐ 100 का नोट निकाला और उस पर तम्बाकू डाल कर उसको बीडी बना कर पीने लगा।

    फिर गुज्जर ने 500 का नोट निकाला उसने भी पंडित की तरह बीडी बनायी और पीने लगा।

    अब बनिया कहाँ पीछे रहने वाला था, उसने 1000 का नोट निकाला और बीडी बनाकर पीने लगा।

    अब आ गयी जाट की बारी।

    जाट ने चेकबुक निकाली एक करोड की रकम भर के चेक की बीडी बनायी और पीने लगा।

    सब बेहोश और जाट मदहोश!
  • गाली की परिभाषा! एक प्रोफेसर हिंदी की कक्षा में "गाली" की परिभाषा बताओ:
    पप्पू: अत्याधिक क्रोध आने पर शारीरिक रूप से...
  • बज गयी सीटी! एक आदमी को गैस की बीमारी थी। वो बहुत परेशान था, ना कही आता था ना कही जाता था।
    एक बार किसी वजह से उसे अपने बहन के घर जाना पड़ा। बहन के घर जाते समय रास्ते मे सोचने लगा कि एक 5 साल का भांजा है उसके लिए क्या...
  • नादान बहु! पर्दा प्रथा का पालन करने वाले घर में शहर की एक अल्हड़ कन्या का विवाह हो गया।
    एक दिन बहु आंगन में सास के साथ बैठकर बातें कर रही थी कि अचानक ससुर जी को किसी काम से आंगन की ओर...
  • शैतान पप्पू! एक बार एक एक बुज़ुर्ग आदमी ने देखा कि पप्पू घर के दरवाज़े पर लगी घंटी बजाने कि कोशिश कर रहा होता परन्तु उसका हाथ घंटी तक नहीं पहुँच पा रहा होता है, यह देख...
  • लग गयी लॉटरी! एक दिन एक मरीज़ बहुत जल्दी में एक डॉक्टर के पास आया।
    मरीज: डॉक्टर साहब, जल्दी कुछ करो, मेरे पैरों पर एक औरत ने गाड़ी चढा दी।
    डॉक्टर ने अच्छे से सब कुछ चेक किया और पाया कि...