•  

    बच्चों मैं विज्ञान की बहुत बड़ी शिक्षक हूँ मेरे से कुछ भी पूछो।

    यह सुन पप्पू ने हाथ उठा दिया और टीचर से बोला, "टीचर जब हम ऊँगली में अंगूठी पहन कर उतारते हैं तो वो जगह गोरी हो जाती है, ऐसे ही जब हम जुराब पहन कर उतारते हैं तो हमारे पैर गोरे हो जाते हैं, परन्तु जब हम चड्डी उत्तारते हैं तो हमारा लंड गोरा क्यों नहीं होता?"

    टीचर ने पप्पू को मन ही मन गालियाँ दी और बोली, "बेटा वह इसीलिए क्योंकि तुम्हारा लंड हमेशा लड़कियों को बुरी नज़र से देखता रहता है।"

    पप्पू ने फिर पूछा, "तो उससे हमारे लंड के काले होने का क्या ताल्लुक है?"

    टीचर: भोसड़ी के, तूने कभी सुना नहीं क्या,....बुरी नज़र वाले तेरा मुंह काला।
  • फिल्म का प्रचार बिहार के कई गाँव में फिल्मों का प्रचार आज भी रिक्शा पर लाउड-स्पीकर लगा कर किया जाता है।
    एक दिन ऐसी ही एक फिल्म का प्रचार हो रहा था। फिल्म...
  • वजन कम करने का अनोखा तरीका! एक मोटे आदमी ने न्यूज पेपर में विज्ञापन देखा। एक सप्ताह में 5 किलो वजन कम कीजिये।
    उसने उस विज्ञापन वाली कंपनी में फोन किया तो एक महिला ने जवाब दिया और कहा, "कल सुबह 6 बजे तैयार रहिए।"
    अगली सुबह उस मोटे ने दरवाजा खोला तो...
  • इब के करे माशटरनी बेचारी? हरियाणा मं तीन गाँम सै "करवाण", "मरवाण" अर बीच म "कुंवारी"।
    मरवाण गांम के स्कूल मं हिन्दी का एक भी टिचर नां अर कुंवारी के स्कूल मं दो हिन्दी की मैडम।
    एक दिन मरवाण गांम की पंचायत...
  • नामों का राज़! गुप्ता जी के घर शर्मा जी आये। गुप्ता जी अपने बच्चों की पहचान कराने लगे।
    ये मेरी बेटी रानी।शादी से पहले हम मुंबई में `रानी बाग़` में घूमा करते थे, उसकी याद में इसका नाम रानी रखा।
    शर्मा जी: वाह, प्यारी बिटिया...
  • संभावना और वास्तविक्ता! पप्पू ने संता से पूछा, "पापा, संभावना और वास्तविक्ता में क्या फर्क है?"
    संता ने थोड़ी देर सोचकर कहा, "जा अपनी माँ से जाकर पूछ कि...