•  

    यो बात सै म्हारे एक ताऊ की, हुआ नु के एक बै ताऊ पैदल आपणे गांव जावै था।

    रास्ते में उसके जूते पाँ में काटण लाग गये।

    ताऊ नै जूतियां आपणी लाठी पै टांग ली।

    गांम के एक छोरे नै मजाक करण की सुझी अर बोल्या,
    "ताऊ, परांठे बहुत दूर टांग राखे सै।"

    ताऊ भी कोई कम ना था। ताऊ बोल्या,
    "भाई खाण-पीण की चीज़ कहीं भी टांग ल्यो, सुसरे कुत्ते की निगाह वहीं चली जा सै।"
  • बुरे फंसे यार! आज तो कमाल ही हो गयी। सुबह-सुबह श्रीमती जी नाश्ता बना रही थी, इतने में किसी ने दरवाजा खटखटाया। श्रीमती जी ने दरवाज़ा खोला तो एक सेल्समैन दनदना के अंदर पहुँचा और...
  • मौके पे चौका! हिन्दी सिनेमा के मशहूर खलनायक अजीत एक बार भारत-पाक क्रिकेट मैच देख रहे थे। पाकिस्तान को जीतने के लिए 3 गेंदों में 18 रनों की जरूरत थी।
    कपिल देव बॉलिंग कर रहे थे और...
  • नहाना भी गलती है! रविवार के दिन पति देव थोड़ी देरी से उठे और उठते ही बोले, "आज तो बड़ी गर्मी है, ठन्डे-ठन्डे पानी से नहाया जाये"... (सीटी बजाते हुए...
  • 4 का चमत्कार! हम भारतीयों के जीवन में 4 नंबर का बहुत महत्व है। इसके कुछ प्रमुख उदाहरण इस प्रकार हैं।
    जैसे
    जुम्मा-जुम्मा...
  • जरूरी निवेदन! सेवा में,
    मुख्य अध्यापक जी,
    श्रीमान जी,
    बात नयुं ए कि इब श्कूल मा जी...