•  

    एक छोरा नया नया ब्याहा था, पहली बार ससुराल गया।

    उसनै घणा बोलण की आदत थी, चुपचाप ना रहया जाया करता। उसकी सासू भी कुछ कम ना थी, सारा दिन फिजूल की बात करती रही।

    सांझ नै सास परेशान होगी, छोरा तै उसतैं भी घणा बोलै था। वा आपणे उस बटेऊ तैं बोली, "बेटा, सुसराड़ में घणा ना बोल्या करते।"

    छोरे नै फट जवाब दिया, "तू के आपणी बूआ कै आ रही सै? तेरी भी तै ससुराड़ सै!!"
  • आखिर पत्नी क्या है? फौजी: सारे दुश्मन हम से डरते हैं और हम बीवी से।
    मोची: मैं जूतों की मरम्मत करता हूँ और बीवी मेरी।
    टीचर: मैं कॉलेज में...
  • भारत का योगदान! एक अमेरिकन भारत घूमने आया तो यहाँ अपने हिंदुस्तानी मित्र से पूछ बैठा, "भाई साहब बताइये अगर आपका भारत महान है तो सँसार के इतने अविष्कारों में आपके देश का क्या योगदान है?"
    हिंदुस्तानी...
  • ख़ुशी मिलती है! एक आदमी ने एक वकील के ऑफिस में फ़ोन किया और वकील का नाम लेकर कहा कि मैं अपने वकील से बात करना चाहता हूँ।
    रिसेप्शन वाले ने कहा...
  • भलाई का ज़माना नहीं! एक साहब सुबह ऑफिस जाने के लिए बस में सवार हुए तो कंडक्टर ने सवाल किया, "रात ठीक-ठाक घर पहुंच गए थे?"
    आदमी ने बड़ी हैरानी से कंडक्टर की तरफ देखा और पूछा, "क्यों, मुझे क्या हुआ था रात को?"
    कंडक्टर ने जवाब दिया...
  • बाकी पैसे कहाँ हैं? एक मंत्री जी भाषण दे रहे थे उसमें उन्होंने एक कहानी सुनाई:
    एक व्यक्ति के तीन बेटे थे, उसने तीनों को 100-100 रूपए दिए और ऐसी वस्तु लाने को कहा जिससे कमरा पूरी तरह भर जाये।
    पहला पुत्र...