•  

    पठान ट्रेन में एक सीट पर अकेला लेटा हुआ था।

    एक यात्री आया और बोला, "भाई साइड में हो जायें, मुझे भी बैठना है।"

    पठान: तुझे पता नहीं मैं कौन हूँ?

    यात्री डर के दूसरी जगह पर जाकर बैठ गया।

    फिर एक पहलवान आया और बोला, साइड में हो जा छोटू मुझे भी बैठना है।

    पठान ने उसे भी रोब दिखाते हुए बोला, "तुझे पता नहीं मैं कौन हूँ?"

    पहलवान ने पठान की गर्दन पकड़ के उठा लिया और बोला, "हाँ, बोल तू कौन है?"

    पठान: जी मैं 'बीमार' हूँ, 2 दिन से तेज़ बुखार है।
  • सबसे रईस कौन! एक बार ट्रेन में एक इंजिनियर, एक डॉक्टर और एक वकील में चर्चा होने लगी कि सबसे ज्यादा रईस कौन है?
    तीनो का ही जवाब था "मैं"।
    इतने में पास बैठे एक सज्जन...
  • प्यार क्या होता है? एक लड़की ने शर्माते हुए अपने पूछा, "ये प्यार क्या होता है?"
    लड़के ने सोचा कि लड़की पर अपना इम्प्रैशन ज़माने का यही मौका है तो उसने जवाब दिया...
  • कहानी से सबक! स्कूल में टीचर ने चौथी क्लास के बच्चों को होमवर्क दिया।
    "कोई स्टोरी सोच के आना और फिर क्लास को बताना कि उससे हमें क्या सबक...
  • जैसे प्रभु की इच्छा! घने जंगल से गुजरती हुई सड़क के किनारे एक ज्ञानी गुरु अपने चेले के साथ एक बोर्ड लगाकर बैठे हुए थे, जिस पर लिखा था,
    "ठहरिये... आपका अंत निकट है। इससे पहले कि...
  • यमराज से मस्ती! यमलोक के दरवाजे पर दस्तक हुई तो यमराज ने जाकर दरवाजा खोला।
    उन्होंने बाहर झांका तो एक मानव को सामने खड़ा पाया। यमराज ने कुछ...