•  

    एक गुरु और चेला समंदर के किनारे टहल रहे थे। वहाँ उन्होंने एक बोर्ड देखा जिस पर लिखा था -
    "डूबते हुए को बचाने वाले को 500 रुपये का इनाम दिया जाएगा।"

    बोर्ड पढ़ते ही गुरु को एक आईडिया सूझा। उसने चेले से कहा, "मैं समंदर में कूद जाता हूँ और मदद के लिए चिल्लाता हूँ... तुम मुझे बचा लेना। जो 500 रुपये मिलेंगे उसमें से 100 तुझे दूंगा, ठीक है?"

    चेला: केवल 100? 50% करिये ना?

    गुरु: 100 रुपये से एक पैसा ज्यादा नहीं दूंगा। आईडिया मेरा है कि तेरा? चुपचाप जैसा मैं कहता हूँ वैसा कर।

    और गुरू समंदर में कूद कर मदद के लिए चिल्लाने लगा।

    चेला आराम से बैठकर देखता रहा। उसे यूँ बैठे देखकर गुरू बोला, "अबे अब आता क्यों नहीं मुझे बचाने? मुझे सचमुच तैरना नहीं आता।"

    चेला: गुरू जी आपने बोर्ड ध्यान से नहीं पढ़ा। नीचे लिखा है - "लाश निकालने वाले को 5000 रुपये का इनाम दिया जाएगा।"
  • दामाद और ससुराल दौरा! सभी माननीय दामादों की ससुराल दौरे से जुड़ी आवश्यक जानकारी जनहित में जारी
    पहली बार:
    पूरी, 2 सब्ज़ी, चिकन या मटन...
  • अक्ल बड़ी या भैंस! एक बार पठान जहाज़ में एक सीट पर बैठ गया और वहाँ से उठने का नाम ही नहीं ले रहा था।
    लोगों ने बहुत मिन्नत...
  • केलकुलेटर का धोखा! एक डॉक्टर के पास एक बेहाल मरीज़ गया।
    मरीज़: डॉ. साहब पेट में बहुत दर्द हो रहा है।
    डॉ: अच्छा...
  • सिंधी का दिमाग! एक लड़का अण्डो से भरी टोकरी साइकिल पर रख कर जा रहा था कि अचानक साइकिल पत्थर से टकरा गयी और अण्डो वाली टोकरी गिर गयी और...
  • कुछ मज़ेदार बातें! 1. अगर हथेली पर तम्बाकू-चूने के घर्षण से बिजली उत्पन्न हो सकती तो आज भारत दुनिया का सबसे बड़ा बिजली उत्पादक देश होता...