•  

    एक बार एक एक बुज़ुर्ग आदमी ने देखा कि एक बच्चा घर के दरवाज़े पर लगी घंटी बजाने कि कोशिश कर रहा होता परन्तु उसका हाथ घंटी तक नहीं पहुँच पा रहा होता है, यह देख बुज़ुर्ग आदमी उस बच्चे के पास जाता है और उस से पूछता है;

    बुज़ुर्ग: क्या हुआ बेटा?

    बच्चा: कुछ नहीं मुझे यह घंटी बजानी है पर मेरा हाथ नहीं पहुँच रहा तो क्या आप मेरे लिए ये घंटी बजा देंगे!

    यह सुन बूढ़ा आदमी तुरंत हाँ कर देता है और घंटी बजा देता है, और घंटी बजाने के बाद बच्चे से पूछता है;

    बुज़ुर्ग: और बताओ बेटा क्या मै तुम्हारे लिए कुछ और कर सकता हूँ?

    यह सुन बच्चा जवाब देता है;

    बच्चा: हाँ अब मेरे साथ भाग बुढ्ढे वरना तू भी पिटेगा अगर मकान का मालिक बाहर आ गया तो!
  • औरतें और उनकी ख़ूबसूरती! कुदरत ने औरतों को हसीन बनाया;
    खूबसूरती दी;
    चाँद सा चेहरा दिया;
    हिरनी सी आँखे;
    मोरनी सी चाल...
  • काबिल कुता! एक दुकान के बाहर लिखा था, "इन्सानों की तरह बात करने वाला कुत्ता बिकाऊ है।"
    एक आदमी दुकानदार से जाकर बोला, "मैं उस कुत्ते को देखना चाहता हूं।"
    दुकानदार ने कहा,"साथ के कमरे में बैठा है, जा कर मिल लो।"
  • थप्पड़ और निंदा! संता ने बंता को थप्पड़ मार दिया। बंता ने तुरंत कड़े शब्दों में इसकी निंदा कर दी।
    संता ने बंता को फिर थप्पड़ मारा। बंता ने और कड़े शब्दों में इसकी निंदा कर दी।
    संता ने बंता को फिर से थप्पड़ मारा...
  • यह कैसी फितरत? एक आदमी एक गाड़ी के ऐक्सिडेंट का चश्मदीद गवाह था। उसे अदालत बुलाया गया। वकील और गवाह के बीच सवाल-जवाब का सिलसिला शुरू हुआ। वकीलः क्या तुमने सच में ऐक्सिडेंट देखा?
    गवाहः जी हां।
  • यह कैसी गोली है? एक आदमी नाई की दुकान पर दाढ़ी बनवाने गया। जब नाई उसके चेहरे पर ब्रश से बढ़िया क्रीम से उतना ही बढ़िया झाग बना रहा था तो उस आदमी ने अपने चेहरे के पिचके गालों की ओर इशारा करते हुए बोला, "मेरे गालों के इस गड्ढे के कारण दाढ़ी बढ़िया...