•  

    शादी के बाद पत्नी कैसे बदलती है, जरा गौर कीजिए:

    पहले साल: मैंने कहा जी खाना खा लीजिए, आपने काफी देर से कुछ नहीं खाया।

    दूसरे साल: जी खाना तैयार है, लगा दूं।

    तीसरे साल: खाना बन चुका है, जब खाना हो तब बता देना।

    चौथे साल: खाना बनाकर रख दिया है, मैं बाजार जा रही हूं, खुद ही निकालकर खा लेना।

    पांचवे साल: मैं कहती हूं आज मुझसे खाना नहीं बनेगा, होटल से ले आओ।

    छठे साल: जब देखो खाना, खाना और खाना, अभी सुबह ही तो खाया था।
  • कहाँ तक की पढाई? एक बै शगाई आले लड़का देखण आ रे थे। लड़की के बाप ने लड़के के दादा ते पुछेया: चौधरी शाब, छोरा कौथी (किस) जमात में पढ़ै सै?
    ताऊ: भाई, न्यूं तै बेरा ना अक कौथी में पढ़ै सै, पर छोरा...
  • भजन और भोजन! आज सुबह मेरे पड़ोस में रहने वाले बंगाली बाबू मेरे घर आये और बोले, "आज हमारे घर भोजन है। आप भी आइएगा।"
    मैंने भी माँ से कह दिया कि मेरा खाना मत बनाना।
  • कर भला हो बुरा! एक बार एक एक बुज़ुर्ग आदमी ने देखा कि एक बच्चा घर के दरवाज़े पर लगी घंटी बजाने कि कोशिश कर रहा होता परन्तु उसका हाथ घंटी तक नहीं पहुँच पा रहा होता है, यह देख बुज़ुर्ग आदमी उस बच्चे के पास जाता है और उस से पूछता है: क्या हुआ बेटा?
  • दोस्तों का अंतर! लड़की का फेसबुक पे स्टेटस - वो बेवफा निकला। कमेंट्स लड़कों के:
    1. डिअर, वो आपके लायक था ही नहीं।
    2. तुम कहाँ वो साला बन्दर कहाँ...
  • औरतें और उनकी ख़ूबसूरती! कुदरत ने औरतों को हसीन बनाया;
    खूबसूरती दी;
    चाँद सा चेहरा दिया;
    हिरनी सी आँखे;
    मोरनी सी चाल...