•  

    सो रहा था एक रोज़ लंड, रख कर टट्टों पर अपना सिर;

    पास से हुआ चूत का गुज़र, लंड ने देखा उसे उठा कर सिर;

    लंड ने पूछा जा रही हो किधर, अगर वक़्त हो तो ज़रा आ जा इधर;

    चूत ने कहा अजी मुझे माफ़ कीजिये, पहले जो मुंह से टपक रहा है उसे साफ़ कीजिये;

    लंड ने जो यह सुना तो वो गया बिगड़, फिर जो कुछ न होना था वो हो गया उधर;

    चोद कर चूत को लंड सो गया फिर;

    देख कर यह चूत बोली लंड से चुद जाने के बाद;

    बात ही नहीं करते जनाब अपना मतलब निकल जाने के बाद!
  • बाबा जी का ज्ञान! शहर में एक बाबा जी प्रवचन के लिए आये। कुछ महिलाएं भी प्रवचन सुनने आई। साथ-साथ में प्रवचन सुन रही थी और साथ में आपस में बातें...
  • ਸਰਪੰਚ ਦਾ ਟੋਟਕਾ!
  • इतने कम नंबर! काम पर से थक हार कर घर आया, सोफे पर बैठ गया। पत्नी ने पानी का गिलास दिया और बच्चे ने मार्कशीट सामने रखी। हिंदी 44, अंग्रेजी 35, गणित 37, आगे कुछ पढ़ने से पहले..... "बेटा ! क्या मार्क है ये ? गधे, शर्म नहीं आती तुझे ? नालायक है तू नालायक...
  • कवित्री की सुहागरात! एक कवित्री की सुहागरात के बाद उसकी सहेली ने जब पूछा कि कैसी रही उसकी सुहागरात तो कवित्री ने अपने अंदाज़ में कुछ यूँ दिया जवाब:...
  • नसबंदी की दास्ताँ! एक गाँव में जिलाधिकारी नसबंदी के महत्व के बारे में भाषण दे रहा था। भाषण के बाद उसने कहा कि अगर कोई सवाल पूछना चाहे तो पूछ सकता है...