•  

    कल रात TV शुरू किया और न्यूज़ चैनल लगाया तो देखा कि समलैंगिकता और अनुच्छेद 377 को निरस्त करने पर बहस चल रहीं थी । कुछ लोग धर्म का हवाला देकर समलैंगिकता का विरोध कर रहें थे तो कुछ समलैंगिकता के अप्राकृतिक होने की वजह से विरोध कर रहें थे ।

    ऐसा नहीं कि हर कोई समलैंगिकता का विरोध कर रहा था, कुछ बुद्धिजीवी टाइप के लोग समर्थन में भी थे। वे लोग freedom of choice, equality और fundamental rights का झंडा बुलंद कर रहें थे ।

    सच कहूं तो कल मेरी आँखें खुल गई और मुझे ज्ञात हुआ कि, "भारत में गांड मराना भी अब मौलिक अधिकारों में शामिल हैं ।"
  • लालच! एक बार एक आदमी ने पार्टी में एक लड़की को देख कर उससे पूछा कि अगर वो उसे एक बार अपना टॉप उतार कर अपने...
  • कुछ खास नियम! बीवी को खुश रखने के 5 नियम:
    1. अपनी बीवी की हर रोज़ लेनी चाहिए...
  • आ बैल मुझे मार! एक बार जीजा अपनी साली को लेकर शहर से गांव लौट रहा था। उसके हाथों में एक बाल्टी, एक छड़ी, बगल में एक मुर्गी और बकरी की रस्सी थी...
  • ईमानदार सपूत! एक लड़का एक सीमेंट की फैक्ट्री में काम करता था। एक दिन उसका बाप उस से बोला," बेटा घर बनवाना है 25 बोरियां सीमेंट की ला दे...
  • तोतला टैक्सी ड्राईवर! एक तोतला टैक्सी ड्राईवर 3 लड़कियों को लेकर जा रहा होता है।
    पुलिसवाला...