•  

    एक अंग्रेज सिपाही, जिसकी बीवी बहुत खूबसूरत थी, को अचानक लड़ाई के मैदान से बुलावा आ गया।

    उसकी गैरमौजूदगी में उसकी बीवी कहीं किसी और से आंखे चार न कर बैठे इस डर से उसने अपनी बीवी को एक कमरे में बन्द किया और चाबी अपने एक विश्वासपात्र मित्र को देकर कहा, "मैं लड़ाई में भाग लेने जा रहा हूं। यदि मैं दस दिनों तक नहीं लौटूं तो तुम इस चाबी से ताला खोलकर उसे आजाद कर देना"।

    इतना कहकर वह सिपाही चल दिया।

    अभी वह थोड़ी ही दूर पहुंचा था कि उसने देखा उसका मित्र घोड़े पर सरपट दौड़ता हुआ उसे आवाज देता हुआ चला आ रहा है यह देख सिफाई ने उस से पूछा, "अरे क्या हुआ सब ठीक तो हैं?"

    दोस्त गुस्से से आग बबूला होकर उस पर चिल्लाते हुए बोला,"धोखेबाज! तू मुझे गलत चाबी देकर जा रहा है। इससे तो ताला खुल ही नहीं रहा।
  • पक्का भारतीय होने के लक्षण: 1. होटल में खाने के बाद मुट्ठी भर सौंफ खाना।
    2. हवाई यात्रा के बाद बैग से टैग नहीं उतारना।
    3. सब्जी लेने के...
  • जान बची तो लाखो पाये! एक बार दो शराबी रात को नशे में टुन्न होकर एयरपोर्ट पर खड़े थे। उन्होंने एक टैक्सी रोकी और टैक्सी वाले को बोले, "चलो भाई एयरपोर्ट ले चलो...
  • तलाक का कारण! जज (औरत से): हाँ तो आपके तलाक की जमीन क्या है?
    औरत: जमीन? शहर के बीचों-बीच एक बहुत बड़ा आलीशान बंगला है और उसके साथ थोड़ी सी खाली जामीन है...
  • स्त्री की चाहत क्या है? मनोविज्ञान भी जिस प्रश्न का उत्तर नही दे सका, वो ये था कि आखिर स्त्री चाहती क्या है? पुराने समय की बात है जो आज पर भी लागू होती है...
  • सनकी बुड्ढा! एक गाँव में एक सत्तर वर्ष का बुड्ढा रहता था वो प्रत्येक एक वर्ष बीतने पर, अपनी ही पत्नी से शादी करता था। बिना किसी रोक-टोक के सारा कार्यक्रम...