•  

    बेटा: पापा 'पॉलिटिक्स' क्या है?

    बाप: तेरी माँ घर चलाती है उसे सरकार मान लो!

    मैं कमाता हूँ मुझे कर्मचारी मान लो

    कामवाली काम करती है उसे मजदूर मान लो!

    तुम देश की जनता!

    छोटे भाई को देश का भविष्य मान लो!

    बेटा: अब मुझे 'पॉलिटिक्स' समझ में आ गयी पापा!

    कल रात मैंने देखा की कर्मचारी मजदूर के साथ किचन में मज़े ले रहा था!

    सरकार सो रही थी!

    जनता की किसी को फ़िक्र नहीं थी और देश का भविष्य रो रहा था!
  • हाजिरजवाबी और बुद्दिमत्ता! लम्बी हवाई यात्रा करते हुए आइन्स्टीन और बंता एक दूसरे के सामने बैठे हुए थे।
    आइन्स्टीन ने कहा, "चलो एक खेल खेलतें हैं, मैं एक प्रश्न पूछता हूँ अगर तुम्हें उसका जवाब न आये तो तुम मुझे 5 डॉलर देना अगर मुझे जवाब नहीं...
  • अमीर बाप! एक भिखारी एक दरवाजे के सामने खड़ा था उसने दरवाजा खटखटाया।
    घर के मालिक ने दरवाजा खोला और पूछा क्या चाहिए तुम्हें?
    भिखारी ने कहा क्या आप...
  • राजनैतिक प्यार! एक नेताजी की दोस्ती एक फिल्म अभिनेत्री से हो गई। कुछ महीनों के बाद नेताजी को लगने लगा कि उन्हें अभिनेत्री से प्यार हो गया है। उन्होंने मन ही मन तय किया कि वे उससे शादी करेंगे। पर चूंकि लड़की...
  • कुछ तमीज़ भी सीखो एक बार दो दोस्त एक होटल में खाना खाने गए और वेटर को एक प्लेट बटर चिकन लाने के लिए कहा। जब वेटर बटर चिकन लेकर आया तो...
  • माँ की ममता! अभी होश में आई है ज़च्चा... प्रसव कक्ष से निकले हुए एक घंटे के बाद होश आया!
    बच्चे को जन्म दिए अभी एक घंटे से ज्यादा वक़्त नहीं हुआ... शरीर में शक्ति नहीं है...
    करवट लेना तो दूर की बात...