•  

    पत्नी: इतने लेट कैसे हो गए, क्या अपनी ऑफिस वाली के साथ पिक्चर देखने गए थे?

    पति: कभी तो शक मत किया कर, शादी की पहली रात से ही शकीली निगाहों से देखती है।

    पत्नी: तो फिर 7 बजे घर आने का टाइम होने के बाद भी रात 10 बजे आ रहे हो।

    पति: वो क्या हो गया ना की एक आदमी का 1000 रुपये का नोट गुम हो गया था।

    पत्नी: अच्छा तो तुम क्या उसे ढूंढने में मदद कर रहे थे ?

    पति: नहीं, मै उस नोट पर खड़ा था।

    पत्नी: लाओ जल्दी कहां है वो नोट।

    पति: ये लो 100 रुपए।

    पत्नी: बाकी के 900 रुपए कहां गए।

    पति: वो क्या है कि जिस लड़की ने मुझे नोट उठाते हुए देख लिया था उसे फिल्म दिखानी पड़ी और फिर सस्ते होटल में खाना खिलाया और अपने स्कूटर से घर छोड़कर आया तब जाकर ये 100 रुपए तुम्हारे लिए बचाए ताकि तुम्हारी पानी पूरी का इंतेजाम हो सके, तुम्हे बहुत पसन्द है ना।

    पत्नी: आप मेरा कितना ख्याल रखते हैं और मैं आप पर बेवजह शक कर रही थी।
  • ज़िन्दगी के पड़ाव! विभिन्न आयु के छात्रो का सबसे अच्छा सामूहिक उदाहरण:
    पहली से तीसरी कक्षा तक: मुझे तो पूरा पर्चा आता था।
    चौथी से छटी कक्षा तक...
  • कलयुग की महाभारत! कौरव और पांडव बीच बड़ा ही घमासान युद्ध चल रहा था कि तभी दुर्योधन की नज़र पांडवों के पीछे खड़े आदमी पर पड़ी।
    दुर्योधन: चल यार युधष्टिर बाय यार हमने नहीं लड़ना तुम्हारे साथ।
    युधिष्ठिर: क्या हुआ...
  • मुहावरो के आधुनिक अर्थ... दोस्तों आज हम कुछ मुहावरों के आधुनिक अर्थ जानेंगे। जो हमरे वैवाहिक जीवन में इस्तेमाल होते हैं।
    1. सुख की जान दुःख में डालना - शादी करना
    2. आ बैल मुझे मार...
  • दादा जी और फेसबुक! दादा जी: सारा दिन मोबाइल! फेसबुक...बोर नहीं होता क्या तू? ऐसा क्या है उसमें?
    पोता: अरे दादा जी आप एक काम करो, आप इसमें अपने पुराने मित्रों को ढूँढो! इसे एक बार इस्तेमाल करके देखो! फिर कहना...
  • ऐसी भी होशियारी अच्छी नहीं! एक जाट के पड़ोस में बनिया रहता था। बनिया की बीवी गुजर गई। जाट ने सोचा बनिया के पास बहुत पैसे हैं, कुछ आमदनी की जाये।
    जाट छाती पीटता हुआ बनिये के घर जा कर...