•  

    एक आदमी की शादी को 20 साल हो गए थे लेकिन उसने आज तक अपनी पत्नी के हाथ से बने खाने की तारीफ नहीं की।

    एक दिन जब वो दफ्तर से घर वापस आ रहा था तो रास्ते में उसे एक बाबा मिले। बाबा ने उस आदमी को रोका और कुछ खाने को माँगा तो आदमी ने बाबा को खाना खिला दिया। बाबा आदमी से बहुत प्रसन्न हुए तो उन्होंने आदमी से कहा कि अगर उसे कोई समस्या है तो बताओ, हम उसका हल कर देंगे।

    आदमी बोला, "बाबा जी, बहुत समय से कोशिश कर रहा हूँ लेकिन काम में तरक्की नहीं हो रही।"

    बाबा: बेटा, तुमने अपनी पत्नी के खाने की कभी तारीफ नहीं की। अपनी पत्नी के खाने की तारीफ करो, तुम्हें अवश्य तरक्की मिलेगी।

    आदमी बाबा को धन्यवाद बोल कर चल दिया।

    घर पहुँच कर उसकी पत्नी ने खाना परोसा, आदमी ने खाना खाया और खाने की जम कर तारीफ की।

    पत्नी एक दम से उठी और रसोई घर से बेलन लेकर आई और आदमी की पिटाई शुरू कर दी।

    आदमी: क्या हुआ? मैं तो तुम्हारे खाने की तारीफ कर रहा हूँ।

    पत्नी: 20 साल हो गए आज तक तो खाने की तारीफ नहीं की और आज जब पड़ोसन खाना दे कर गयी है तो तुम्हें ज़िन्दगी का मज़ा आ गया।
  • जैसे को तैसा! एक बार एक डॉक्टर रात को सोया हुआ था। रात को अचानक डॉक्टर की नींद खुली उसने देखा कि उसका टॉयलेट पूरी तरह से ब्लॉक हो गया है।
    उसने अपनी पत्नी से कहा, "मैं अभी प्लम्बर को बुलाता हूं।"...
  • हिसाब बराबर! एक बार एक मरता हुआ पति अपनी पत्नी से अपराध स्वीकारोक्ति करते हुए बोला।

    पति: प्रिये, दो साल पहले अलमारी से तुम्हारा गोल्ड सेट मैंने ही चोरी किया था।

    पत्नी (रोते हुए): कोई बात नहीं जी।...
  • यह दोस्ती एक रात प्रीतो, घर वापस नहीं आती! अगली सुबह जब वह घर पहुँचती है तो बंता उससे पूछता है कि वह सारी रात कहाँ थी? तो प्रीतो जवाब देती है कि वह अपनी सहेली के घर पर थी...
  • मुहावरो के आधुनिक अर्थ: 1. खुद की जान खतरे में डालना = शादी करना
    2. आ बैल मुझे मार = पत्नी से पंगा लेना
    3. दीवार से सर फोड़ना = पत्नी को कुछ समझाना
    4. चार दिन की चांदनी वही अँधेरी रात...
  • ज्यादा सोचना भी ठीक नहीं! एक बार एक आदमी दौड़ा-दौड़ा डॉक्टर के क्लिनिक में आया और उससे बोला डॉक्टर, "साहब मेरी जान बचा लीजिये।"
    डॉक्टर उस आदमी को हौंसला देते हुए बोला, "घबराओ नहीं शान्ति से...