•  

    संता और बंता दक्षिण अफ्रीका के एक आइलैंड में किसी जनजाति के जीवन शैली के अध्ययन के लिए गए जब वे वहां नाव से जा रहे थे तो उनकी नाव समुद्री तूफान के आने से डगमगाने लगी और वे दोनों तूफान आने से अलग अलग हो गए!

    कुछ महीनों के बाद संता अपनी नाव लेकर अपने आईलैंड से दूर निकाल गया और वह दूसरे आइलैंड पर पहुँच गया!

    जब वहां पहुंचा तो वह बंता को देखकर काफी खुश हो गया उसने देखा बंता वहां के स्थानीय लोगों के साथ कुछ बातें कर रहा है!

    संता ने बंता से पूछा बंता कैसा लग रहा है तुम्हें यहाँ?

    बंता बहुत अच्छा उसने बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि मैं इन लोगों के साथ इनकी भाषा सीखने की कोशिश कर रहा हूँ और एक चमत्कार इनकी भाषा का मैं तुम्हें दिखाता हूँ!

    बंता ने उन लोगों की तरफ देखा और ताड़ के पेड़ की तरफ इशारा करते हुए पूछा ये क्या है?

    सभी लोगों ने एक साथ मिलकर जवाब दिया उमांगो-गोंग (umangon gong)!

    फिर उसने पहाड़ी की तरफ इशारा करते हुए पूछा ये क्या है?

    उन सभी ने फिर से कहा उमांगो गोंग!

    तब बंता ने कहा तुमने देखा इन्होने ताड़ के पेड़ और पहाड़ी को बोलने के लिए एक ही शब्द का प्रयोग किया!

    संता ने कहा वाकई ये तो सच में हैरानी की बात है जिस आइलैंड में मैं रहता हूँ वहां इसका मतलब तर्जनी (इंडेक्स फिंगर) होता है!
  • एक घमंडी पर्यटक एक घमंडी पर्यटक के ऑस्ट्रेलिया के एक छोटे से गांव के दौरे पर गया जब जब वह वहां घूम रहा था तो उसने देखा कि एक स्थानीय व्यक्ति मगरमच्छ के दांतों से बना हुआ हार पहने हुए है!...
  • नींद नहीं आती एक दिन संता थका हारा डॉक्टर के पास आता है और डॉक्टर से कहता है डॉक्टर साहब मेरे पड़ोस में बहुत सारे कुत्ते है जो रात दिन भौंकते रहते है जिस कारण में...
  • अनोखा प्यार! एक बार एक बुज़ुर्ग औरत और एक बुज़ुर्ग आदमी में काफी लम्बे समय से बड़ी गहरी दोस्ती होती है, एक दिन अचानक आदमी के दिमाग में कुछ आता है...
  • किस्सा दोस्ती का! दो बूढ़े आदमी काफी सालों से अच्छे दोस्त थे दोनों की उम्र अब लगभग 90 वर्ष के आसपास होगी!
    एक दिन उनमें से एक दोस्त बहुत बीमार हो गया उसका दूसरा दोस्त उसे रोज मिलने के लिए आता था और रोज वे अपने दोस्ती के किस्से दोहराते थे!...
  • झंझट में फंस गया संता एक बार शिकार करने चला गया और साथ में अपनी पत्नि जीतो और सास को भी ले गया!
    एक शाम को जंगल में बहुत गहरा अँधेरा था सब कुछ शांत था और जीतो...