• अमीरी की हकीकत!

    एक ताऊ हस्पताल में आखिरी साँसे गिन रहा था उसका परिवार व एक नर्स उसके बिस्तर के पास खड़े थे।

    ताऊ अपने बड़े बेटे से बोला,"बेटा, तुम मेरे TDI City वाले 15 बंगले ले लो।

    बेटी से कहा,"तू सोनीपत सेक्टर 14 के बंगले ले ले।

    छोटे बेटे से कहा,"तू सबसे छोटा है और मुझे सबसे ज्यादा प्यारा भी तुझे मैं रोहिणी सेक्टर 24 पॉकेट 13 की 20 दुकाने देता हूँ"।

    आखिर में ताऊ पत्नी से बोला,"मेरेबाद तुम्हें पैसों के लिए किसी का मुँह न ताकना पड़े इसलिए मेरे यूनिटी वाले 12 फ़्लैट तुम अपने पास रख लो।"

    पास में खड़ी नर्स, जो यह सब सुन रही थी, बहुत प्रभावित हुई उसने ताऊ की पत्नी से कहा, "आप बहुत भाग्यशाली हैं कि आपको इतने अमीर पति मिले जो इतनी सारी जायदाद देकर जा रहे हैं।"

    पत्नी: "कौन अमीर ? कैसी जायदाद ? अरे ये दुधिया है हम सबको जिम्मेदारियां बाँट रहे हैं सुबह-सुबह दूध पहुंचाने की।
  • फौजी की दावत!

    एक बार एक फौजी अफसर की शादी हुई तो उसने अपने बटालियन के सभी जवानों को शादी की दावत पर बुलाया।

    खाना टेबल पर लगाकर सब जवानों को फौजी अँदाज मे कहा, "मेरे शेरो इस खाने को दुशमन समझकर इसके उपर टूट पड़ो।"

    थोड़ी देर में फौजी अफसर क्या देखता है कि एक जाट एक हाथ से लड्डू - जलेबी खा रहा है और एक हाथ से लड्डू - जलेबी जेब मे ठूस रहा है।

    अफसर: जवान यह क्या हो रहा है?

    जाट: साहब जितने मारने थे उतने मार दिये बाकियों को बंदी बना रहा हूँ।
  • सबसे तेज क्या?

    एक बार कक्षा छठी में चार बालकों को परीक्षा मे समान अंक मिले, अब प्रश्न खडा हुआ कि किसे प्रथम रैंक दिया जाये। स्कूल प्रबन्धन ने तय किया कि प्राचार्य चारों से एक सवाल पूछेंगे, जो बच्चा उसका सबसे सटीक जवाब देगा उसे प्रथम घोषित किया जायेगा।

    चारों बच्चे हाजिर हुए, प्राचार्य ने सवाल पूछा, "दुनिया में सबसे तेज क्या होता है?"

    पहले बच्चे ने कहा, "मुझे लगता है 'विचार' सबसे तेज होता है, क्योंकि दिमाग में कोई भी विचार तेजी से आता है, इससे तेज कोई नहीं।"

    प्राचार्य ने कहा, "ठीक है, बिलकुल सही जवाब है।"

    दूसरे बच्चे ने कहा, "मुझे लगता है 'पलक झपकना' सबसे तेज होता है, हमें पता भी नहीं चलता और पलकें झपक जाती हैं और अक्सर कहा जाता है, 'पलक झपकते' कार्य हो गया।

    प्राचार्य बोले, "बहुत खूब, बच्चे दिमाग लगा रहे हैं।"

    तीसरे बच्चे ने कहा, "मैं समझता हूँ 'बिजली', क्योंकि मेरे यहाँ गैरेज, जो कि सौ फ़ुट दूर है, में जब बत्ती जलानी होती है, हम घर में एक बटन दबाते हैं, और तत्काल वहाँ रोशनी हो जाती है,तो मुझे लगता है 'बिजली' सबसे तेज होती है।"

    अब बारी आई चौथे बच्चे की। सभी लोग ध्यान से सुन रहे थे, क्योंकि लगभग सभी तेज बातों का उल्लेख तीनो बच्चे पहले ही कर चुके थे।

    चौथे बच्चे ने कहा, "सबसे तेज होते हैं 'दस्त'।

    सभी चौंके, प्राचार्य ने कहा, "साबित करो कैसे?"

    बच्चा बोला, "कल मुझे दस्त हो गए थे, रात के दो बजे की बात है, जब तक कि मैं कुछ 'विचार' कर पाता, या 'पलक झपकाता' या 'बिजली' का स्विच दबाता, दस्त अपना 'काम' कर चुका था।

    कहने की जरूरत नहीं कि इस असाधारण सोच वाले बालक को ही प्रथम घोषित किया गया।
  • निजी सचिव का गुस्सा!

    एक बार एक सुंदर सी निजी सचिव गुस्से में अपने प्रबंधक के कमरे से बाहर निकली तो उसकी एक सहेली ने उस से पूछा, "अरे क्या हुआ तू गुस्से में क्यों है?"

    सचिव: जब मैं अन्दर गयी तो बॉस ने मुझे बड़े प्यार से कुर्सी पर बैठने के लिए कहा।

    सहेली: फिर?

    सचिव: फिर उन्होंने बड़े प्यार से मुझ से पूछा की क्या मैं आज शाम को फ्री हूँ।

    सहेली:फिर ?

    सचिव: मैंने खुशी के मारे हां कर दी...और...

    सहेली : और?

    सचिव: और क्या....उस कम्बख्त ने मुझे 500 पेज टाइप करने को दे दिए।