• अच्छा सबक!

    स्कूल में टीचर ने चौथी क्लास के बच्चों को होमवर्क दिया।
    "कोई स्टोरी सोच के आना और फिर क्लास को बताना कि उससे हमें क्या सबक मिलता है?"

    अगले दिन एक बच्चे ने क्लास में स्टोरी सुनाई:
    "मेरा बापू कारगिल की जंग में लड़ा। उस के हेलीकॉप्टर को दुश्मनों ने मार गिराया। वो दारू की एक बोतल के साथ पहले ही हेलिकॉप्टर से कूद गया लेकिन बार्डर के पार दुश्मनों के इलाके में जा गिरा। जहां कि उस को घेरने के लिए दुश्मनों की फौज दौड पड़ी।

    बापू ने गटागट दारू की बोतल पीकर खाली की और अपनी बंदूक संभाल ली। दुश्मन के सौ फौजियों ने आ कर उसे घेर लिया तो उसने तड़ातड़ गोलियां चला कर दुश्मन के सत्तर फौजी मार ड़ाले। फिर उसकी गोलियां खत्म हो गयीं तो उसने बंदूक पर लगी किर्च से दुश्मन के बीस फौजी मार गिराये। तब उसने बंदूक फेंक दी और निहत्थे ही बाकी के दस और दुश्मन फौजी मार गिराये और फिर टहलता हुआ बार्डर पार कर के अपने इलाके में आ गया।"

    टीचर भौंचक्का सा उसका मुँह देखने लगा, फिर वैसा ही भौंचक्का सा बोला, "कहानी बढिया है, लेकिन इस से हमें सबक तो कोई नहीं मिलता।"

    "मिलता है न।" बच्चा शान से बोला।

    "क्या सबक मिलता है?" टीचर ने पूछा।

    "यही कि बापू टुन्न हो तो उस से पंगा नहीं लेने का।"
  • 4 नंबर और हम!

    4 दिनों का प्यार ओ रब्बा बड़ी लंबी जुदाई।

    4 दिनों की चाँदनी फिर अँधेरी रात।

    4 किताबें तो पढ़ ली, अब 4 पैसे भी कमा लो।

    आखिर हमारी भी 4 लोगों में इज़्ज़त है।

    ये बात 4 लोग सुनेंगे तो क्या कहेंगे कि 4 दिन की आई बहु ने ये कमाल कर दिया।

    4 दिन तो घर में टिक के बैठ जाती।

    तुम से क्या 4 कदम भी नहीं चला जाता?

    वो आई और 4 बातें सुना कर चली गयी।

    4 बोतल वोडका काम मेरा रोज़ का।
  • विनम्र निवेदन!

    बिस्किट बनाने वाली कंपनियों को विनम्र निवेदन:

    पहले मारी वालो कृपया मारी बिस्किट का आकार कम कीजिये या फिर कप बनाने वाली कंपनी के लोगों से एक बार बात करके तो देखें।

    दूसरा Parle G वालों से निवेदन है कि बिस्किट के घोल में थोडा सा अंबुजा सीमेंट भी मिला कर दें। चाय में डुबोते ही ग़श खा कर उसी कप में आत्महत्या कर लेता है।

    रस्क डुबो के खाने वालो से निवेदन है कि चाय पीते समय बंगाली भाषा का प्रयोग करें, "अमी चाय खाबो"। एक रस्क चाय में डुबोते ही आधा कप खाली हो जाता है और 2 रस्क में आप चाय खा जाते हैं।
  • स्वर्ग और पृथ्वी में फर्क!

    एक आदमी ने भगवान की बहुत आराधना की तो भगवान उस से प्रसन्न हो गए और उसके समक्ष प्रकट हुए तो वह आदमी भगवान् से बोला,"क्या मै एक सवाल पूछ सकता हूं?"

    भगवान ने कहा, "पूछो"।

    आदमी: "हे भगवान... करोड़ो साल मतलब तुम्हारे लिए कितने है?"

    भगवान: करोड़ो साल मेरे लिए एक सेकंड के बराबर हैं।

    उस आदमी को बहुत आश्चर्य हुआ। फिर उस आदमी ने आगे पूछा, "भगवान, करोड़ो रुपये की तुम्हारे लिए कितनी अहमियत रखते हैं?"

    भगवान ने कहा, "करोड़ो रुपये मेरे लिए सिर्फ एक पैसे के बराबर हैं"।

    आदमी: हे भगवान, तो क्या तुम मुझे एक पैसा दे सकते हो?

    भगवान: जरुर. . .सिर्फ एक सेकंड रुको।