• किस्मत का धनी!

    एक महिला के 3 दामाद थे।

    उसके दामाद उसे चाहते भी हैं या नहीं यह जानने के लिए एक दिन वह पहले दामाद को लेकर तालाब के किनारे घूमने गई और उसमें कूद पड़ी।

    पहले दामाद ने उसे बचा लिया।

    सास ने उसे एक मारुति कार उपहार में दी।

    अगले दिन दूसरे दामाद के साथ तालाब किनारे घूमने गई और फिर कूद पड़ी।

    दूसरे दामाद ने भी उसे बचा लिया।

    सास ने उसे एक मोटर साइकिल दी।

    2 दिन के बाद तीसरे दामाद को लेकर गई और तालाब में कूद पड़ी।

    तीसरे दामाद ने सोचा - `लगता मुझे, तो साइकिल ही मिलेगी तो खामख्वाह मेहनत करके क्या फायदा, और वह बचाने नहीं गया।

    इस तरह से सासू माँ डूब गई।

    लेकिन अगले दिन इस दामाद को मर्सिडीज कार मिली।

    पूछो कैसे?
    ?
    ?
    ?
    ?
    "अरे भाई, ससुर ने दी।"
  • सेल्फी का पागलपन!

    वो छत पर खड़ी थी। बाल खुले और बिखरे कभी मुँह इधर कभी उधर, बार-बार सामने निहारती दिन दुनियाँ से बेखबर, मुझे बहुत दया आ रही थी।

    इतनी कम उम्र में पागल होना। पूरी जिंदगी पड़ी है। क्या होगा? कैसे होगा? मुझे उसके पिता की चिंता सताने लगी।

    बेचारा दिन रात मेहनत करके परिवार पालता है। ऊपर से इस पागल लड़की को कैसे संभालेगा?

    धीरे-धीरे पागलपन और बढ़ गया।अब तो वह मुंडेर पर बैठ गयी थी। मैं घबराया, मैंने अपनी बिटिया को बुलाया और अपनी चिंता से अवगत कराया ।

    बिटिया बोली, "अरे पापा वो पागल नहीं हैं, वो तो सैल्फी ले रही है।"
  • आशिकी की हद!

    एक लड़की ने एक लड़के को फोन किया।

    लड़की: हेल्लो डार्लिंग।

    लड़का: ओह्ह जानू कैसी हो?

    लड़की: कहाँ हो यार सुबह से?

    लड़का: अरे हम तो खोये हुए हैं आपकी आँखों में।

    लड़की: अभी क्या कर रहे हो?

    लड़का: तुम्हारी तस्वीर देख रहा हूँ कहीं और दिल ही नहीं लग रहा आज कल।

    लड़की: पर मैंने तो तुम्हे कोई अपनी तस्वीर दी ही नहीं।

    लड़का: अरे मेरे दिल में छपी है बरसों से।

    लड़की: पर हम तो परसों ही मिले हैं?

    लड़का: तुम्हारे बिना हर एक पल बरसों की तरह है पिंकी।

    लड़की: पिंकी? ये पिंकी कौन है मैं तो निशा हूँ।

    लड़का: तुमसे बात करके मैं सब भूल जाता हूँ।

    लड़की: तुम अजय बोल रहे हो ना?

    लड़का: घर वाले समीर बुलाते हैं लेकिन वो गलत हो सकते हैं तुम नहीं।

    लड़की: यह 9622XXXXXX है ना?

    लड़का: अब तक नहीं था पर अब से यही है।
  • होनहार बेटा बनाम नालायक बेटा!

    पापा: बेटा आगे का क्या प्लान है?

    होनहार बेटा: बस दसवीं में 98% आ जाये फिर 2 साल की मेहनत और आईआईटी।

    उसके बाद एक साल की और मेहनत फिर आईआईएम तब 20 लाख का जॉब पैकेज .......लाइफ हैप्पी।

    नालायक बेटा: बस दसवीं पास हो जाये फिर "रोडीज" में से बाइक जीत के आऊंगा।

    "स्पलिटविल्ला" में से आपकी बहु फिर "इमोशनल अत्याचार" से उसे प्रमाणित करवाऊंगा।

    अच्छी रही तो ठीक, नही तो...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    प्रोसेस रिपीट।