• बच्‍चा और टीचर!

    टीचर क्‍लास में सो गई, तो एक छोटा शरारती बच्‍चा उन्‍हें जगाने गया।

    बच्‍चा बोला,"टीचर, आप क्‍लास में सो रही हैं।"

    टीचर: नहीं बेटा, मैं सो नहीं रही, मैं तो आंखें बंद करके भगवान से बातें कर रही थी।

    अगले दिन वह बच्‍चा क्‍लास में सो गया, तो टीचर ने उसे जगाया।

    टीचर: बेटा, क्‍लास में सोते नहीं है।

    बच्‍चा: नहीं मैम मैं सो नहीं रहा था। मैं तो भगवान से बातें कर रहा था।

    टीचर: अच्‍छा, तो क्‍या बोले भगवान?

    बच्‍चा: भगवान बोले कि उनकी तो आपसे कोई बात नहीं हुई थी।
  • स्वर्ग जाने का रास्ता!

    एक बच्चा बाजार के बाहर अपनी माँ के आने का इन्तजार कर रहा था, तभी वहां से एक बाबाजी कुछ इधर उधर देखते हुए बच्चे की तरफ आ रहे थे उसने बच्चे को देखा तो यकायक पूछ लिया बेटा, जरा मुझे ये तो बताओ की ये पोस्ट ऑफिस कहाँ है?

    बच्चे ने कहा बाबा यहाँ से सीधे आगे चले जाईये, आगे से अपने सीधे हाथ की तरफ मूढ़ जाईये, वहां तीन चार सीढ़ियाँ नजर आएँगी बस उनको पार कर लेना वहीँ सामने पोस्ट ऑफिस है।

    बाबा ने बच्चे का धन्यवाद किया और कहा कि मैं एक बहुत बड़े मठ का बाबा हूँ कभी हमारे मठ में आना मैं तुम्हें स्वर्ग जाने का रास्ता दिखाऊंगा।

    बच्चे ने मजाकिया लहजे में कहा बाबा जाईये जाईये अभी पोस्ट ऑफिस का रास्ता तो पता नहीं स्वर्ग का रास्ता क्या खाक दिखाएंगे।

  • घर पर कोई है क्या?

    एक बार एक आदमी ने एक घर की घंटी बजाई तो अंदर से एक बच्चा बाहर आया।

    आदमी: बेटा पापा घर पर हैं?

    बच्चा: अंकल, पापा तो बाज़ार गए हैं।

    आदमी: चलो बड़े भाई को बुला दो।

    बच्चा: वह क्रिकेट खेलने गया है।

    आदमी: बेटा, मम्मी तो होंगी घर पर?

    बच्चा: जी वह किट्टी पार्टी में गई हैं।

    आदमी गुस्से में आकर बोला: तो बेटा तुम घर पर क्यों बैठे हुए हो? तुम भी कहीं चले जाओ।

    बच्चा: अरे अंकल मैं भी तो अपने दोस्त के घर आया हुआ हूँ।
  • हो गया पोपट!

    एक आदमी एक दस साल के लड़के के साथ नाई की दुकान पर पहुंचा और बोला कि उसे पास ही कहीं जरुरी काम से जाना है। इसलिये वो पहले उसकी कटिंग कर दें। नाई ने उसकी कटिंग कर दी तो उसने बालक को अपने स्थान पर कुर्सी पर बिठाया, उसके सिर पर प्यार से हाथ फ़ेरा और कहा, "आराम से कटिंग कराना, अंकल को तंग न करना।" इतना कहकर वो वहां से चला गया।

    नाई ने लड़के की कटिंग की, उसे कुर्सी से उतारा और कहा, "तू उधर बैठ जा, बेटा, तेरे डैडी अभी आते होंगे।"

    लड़का: वो मेरे डैडी थोड़े ही थे।

    नाई: तो अंकल होंगे, बेटा।

    लड़का: नहीं।

    नाई: तो कौन थे वो?

    लड़के: मुझे क्या पता कौन थे, मैं तो गली में खेल रहा था कि वो आकर बोले कि फ़्री में कटिंग करायेगा? मैंने कहा, "कराऊंगा" और मैं उसके साथ यहां चला आया।