• अजीब नाराज़गी!

    एक बार एक आदमी की बीवी मायके गयी हुई थी। आदमी उसे लेने अपने ससुराल गया। जब बीवी को लेकर वो ससुराल से वापस आने लगा तो उसकी सास ने उसके हाथ में 20 रुपये दे दिए।

    दोनों वापस घर आ गए। घर आने पर आदमी कई दिनों तक अपनी बीवी से झगड़ता रहा। उससे सही तरीके से बात भी नहीं कर रहा था। एक दिन उसकी बीवी ने उससे तंग आ कर उस को पूछ लिया, "क्यों जी, जब से आप मुझे लेकर आये हो, आप मुझसे झगड़ते ही रहते हो। ठीक से बात भी नहीं करते, ऐसी क्या बात हो गयी?"

    आदमी: तुम्हारी माँ को कोई भी शर्म नहीं है न?

    बीवी: क्या हो गया? ऐसा क्यों बोल रहे हो?

    आदमी: जब मैं तुम्हें लेने गया था तो पूरे 100 रूपये के केले लेकर गया था और तुम्हारी माँ ने आते वक़्त मेरे हाथ में 20 रुपये थमा दिए थे।

    बीवी तपाक से बोली: जी आप वहाँ मुझे लेने गए थे या केले बेचने?
  • गधे ही शादी करते हैं!

    एक पति का अपनी पत्नी से झगड़ा हुआ और दुखी होकर घर से बाहर निकला और पीछे पीछे उसका बेटा भी उसके साथ आ गया।

    वे दोनों घूमते घूमते एक पार्क में पहुँच गए, दोनों एक बेंच पर बैठ गए, सामने एक गधा घास चर रहा था।

    बच्चे ने अपने बाप को पूछा, "पापा ये कौन सा जानवर है?"

    बाप ने जवाब दिया, "बेटा ये गधा है।"

    उस के साथ में एक गधी भी चर रही थी, बच्चे ने पूछा, "पापा ये कौन है? बाप ने जवाब दिया बेटा ये इस गधे की बीवी है।"

    बच्चे ने पूछा, "तो क्या पापा गधे भी शादी करते है?"

    बाप बड़े दुखी मन से बोला, "हाँ बेटा, सिर्फ गधे ही शादी करते है।"
  • जैकेट का खेल!

    एक दिन एक औरत अपने प्रेमी के साथ घर में थी कि अचानक से उसके पति ने बाहर आवाज़ लगा दी। औरत ने अपने प्रेमी को जल्दी जल्दी अलमारी में छिपा दिया।

    पति घर में दाखिल हुआ और पूछा, "क्या हुआ, दरवाज़ा खोलने में इतना समय क्यों लगा दिया?"

    औरत ने घबराते हुए जवाब दिया, "नहीं वो मैं अलमारी में कपडे रख रही थी।"

    थोड़ी देर बाद औरत ने पति कहा,"चलो खाना खा लेते हैं।"

    जब वे खाना खा रहे थे तो पति को अलमारी में कोई आवाज सुनाई दी, तो उस ने अपनी पत्नी से पूछा,"ये क्या है डार्लिंग?"

    औरत: कुछ नही जैकेट होगी।

    कुछ समय बाद फिर उसे वही आवाज सुनाई दी, पति ने फिर चिढ़कर कहा, "अरे ये फिर से आवाज हुई?"

    औरत: कुछ नही जैकेट है।

    थोड़ी देर बाद पति को फिर वही आवाज सुनाई दी, तो वो गुस्से में उठकर बोला, "मैं ही देखता हूँ ये क्या है और अगर ये जैकेट नही हुई न तो तुम्हें बहुत पछताना पड़ेगा।"

    औरत पूरी तरह से घबरा गयी।

    पति ने जैसे ही अलमारी का दरवाजा खोला तो एक आदमी उसकी ओर पिस्तौल ताने खड़ा था। पति ने चुपचाप अलमारी का दरवाजा बंद किया और बोला, "अरे डार्लिंग सच में जैकेट ही है।"
  • बेचारा पति क्या करे ?

    1. सन्डे को पति अगर देर तक सोया रहे तो :-
    बीवी : अब उठ भी जाओ ! तुम्हारे जैसा भी कोई है क्या ? छुट्टी है तो इसका मतलब यह नहीं कि सोते ही रहोगे।

    2. सन्डे को पति अगर जल्दी उठ जाये तो :-
    बीवी: पिछले जन्म में मुर्गे थे क्या ? एक दिन तो चैन से सोने को मिलता है, उसमें भी ठीक 5:30 बजे उठ कर कुकडू-कू करने लगते हो। इतना जल्दी उठकर क्या पहाड़ तोड़ लाओगे ?

    3. सन्डे को पति अगर घर पे ही रहे तो :-
    बीवी: कुछ काम भी कर लिया करो। हफ्ते भर बाट देखते है तुम्हारे सन्डे की, उसे भी तुम केवल नहाने धोने में ही लगा देते हो।

    4. सन्डे को पति अगर घर से देर तक बाहर रहे तो :-
    बीवी : कहाँ थे तुम आज पूरा दिन ? आज सन्डे है, कभी मुँह से भगवान का नाम भी ले लिया करो।

    5. सन्डे को पति अगर पूजा करे तो :-
    बीवी : ये घन्टी बजाते रहने से कुछ नहीं होने वाला। अगर ऐसा होता तो इस दुनिया के रईसों में टाटा या बिल गेट्स का नाम नहीं होता बल्कि किसी पुजारी का नाम होता।

    6. अगर टाटा या बिल गेट्स जैसा बनने के लिए पति दिन रात मेहनत करे तो :-
    बीवी : हर वक़्त काम, काम काम, तुम्हें अपने ऑफिस के ही सात फेरे ले लेने चाहिए थे। हम क्या यहाँ पर बंधुआ मजदूर है जो सारा दिन काम करें और शाम को तुम्हारा इंतज़ार करें ?

    7. पति अगर पत्नी को घुमाने के लिए ले जाए तो :-
    बीवी : हमारे बीच वाले जीजा जी तो दीदी को हर महीने घुमाने ले जाते हैं और वो भी स्विट्ज़रलैंड और दार्जिलिंग जैसी जगहों पर। तुम्हारी तरह "हरिद्वार" नहाने नहीं जाते।

    8. पति अगर अपनी ऐसी तैसी करा कर नैनीताल, मसूरी, गोवा, माउन्ट आबू, ऊटी जैसी जगहों पर घुमाने ले भी जाए तो :-
    बीवी : अपना घर ही सबसे अच्छा, बेकार ही पैसे लुटाते फिरते है। इधर उधर बंजारों की तरह घूमते फिरो। क्या रखा है घूमने में ? इतने पैसे से अगर घर पर ही रहते तो पूरे 2 साल के लिए कपड़े खरीद सकते थे।

    घरवाली की किच-किच न हो तो इन्सान कहाँ से कहाँ पहुँच जाता है...
    विश्वास न हो तो नरेन्द्र मोदी को ही देख लो !