विवाहित Hindi Jokes

New
Hindi Jokes > विवाहित ( 1 - 4 of 172 )
Page: 1
बारिश का बहाना है!

एक दिन पति-पत्नी के बीच झगड़ा हो गया।

पति: बस-बस, बहुत हो चुका। आज तुमने मेरा दिल तोड़ दिया है। अब मैं इस घर में तुम्हारे साथ नहीं रह सकता। आज की लड़ाई हमारी अंतिम लड़ाई है। मैं इसी वक़्त घर छोड़ कर जा रहा हूँ।

इतना कह कर पति दरवाज़े की तरफ बढ़ गया।

पत्नी: कहाँ जा रहे हो?

पति: वहाँ जा रहा हूँ, जहाँ तुम मुझे ढूंढ ना सकोगी। दूर कहीं जंगलो में, ऊँचे-ऊँचे पहाड़ों पर, विशाल समंदर पार कर।

पति ने दरवाज़ा खोला और फिर बंद कर दिया।

पत्नी: क्या हुआ, अब गए क्यों नहीं?

पति: बस यह बारिश थोड़ी काम हो जाने दो।

शांतिपूर्ण वैवाहिक जीवन का राज़!

एक दंपत्ति ने जब अपनी शादी की 25 वीं वर्षगांठ मनाई तो एक स्थानीय समाचार पत्र का संवाददाता उनका साक्षात्कार लेने उनके घर जा पहुंचा। दरअसल वे दंपत्ति अपने शांतिपूर्ण और सुखमय विवाहित जीवन के लिये पूरे कस्बे में प्रसिध्द हो चुके थे। उनके बीच कभी कोई तकरार नाम मात्र के लिये भी नहीं हुई।

संवाददाता उनके सुखी जीवन का राज जानने के लिये उत्सुक था।

पति ने बताया कि हमारी शादी के फौरन बाद हम लोग हनीमून मनाने के लिये शिमला गये हुये थे। वहां हम लोगों ने घुड़सवारी की। मेरा घोड़ा तो ठीक था पर जिस घोड़े पर मेरी पत्नी सवार थी वह जरा सा नखरे बाज़ था। उसने दौड़ते दौड़ते अचानक मेरी पत्नी को नीचे गिरा दिया। मेरी पत्नी उठी उसने घोड़े की पीठ पर हाथ फेरते हुये कहा, 'यह पहली बार है और फिर उसी घोड़े पर सवार हो गई'। थोड़ी दूर चलने के बाद घोड़े ने फिर उसे नीचे गिरा दिया। पत्नी ने अबकी बार कहा, 'यह दूसरी बार है' और फिर उसी घोड़े पर सवार हो गई। तीसरी बार जब घोड़े ने उसे नीचे गिराया तो मेरी पत्नी ने घोड़े से कुछ नहीं कहा, बस अपने पर्स से पिस्तौल निकाली और घोड़े को गोली मार दी।

मैं अपनी पत्नी पर चिल्लाया, "ये तुमने क्या किया? तुमने एक बेजुबान जानवर को मार दिया, क्या तुम पागल हो गई हो?"

पत्नी ने मेरी तरफ देखा और कहा, "ये पहली बार है।"

और बस, तभी से हमारी जिंदगी सुख और शान्ति से चल रही है।

पत्नी-वन्दना!

हाथ जोड़ कर कीजिये,पत्नी जी का ध्यान।
घर में खुशहाली रहे ,हो जाये कल्यान।।

घरवाली को नमन कर, माला लेकर हाथ।
मुख से पत्नी-वन्दना बोलो मेरे साथ।।

जय पत्नी देवी कल्यानी।
माया तेरी ना पहचानी।।

तुमसे सारे देवता हारे।
डर से थर-थर कांपें सारे।।

नहीं चरित्र तुम्हरा कोई जाना।
नर क्या ईश्वर ना पहचाना।।

अपरम्पार तुम्हारी माया।
कोई इसका पार न पाया।।

लगो देखने में तुम गुड़िया।
हो लेकिन आफत की पुड़िया।।

हे मेरे बच्चों की माता।
तुम हो मेरी भाग्यविधाता।।

है बेलन हथियार तुम्हारा।
जब चाहा सिर पर दे मारा।।

ऐसी तेरी निकले बोली।
जैसे हो बंदूक की गोली।।

हम तुमसे डरते हैं ऐसे।
चोर पुलिस से डरता जैसे।।

ऐसा है आतंक तुम्हारा।
बिच्छू जैसा डंक तुम्हारा।।

करे पती जो पत्नी-सेवा।
मिलती उसको सच्ची मेवा।।

पत्नी-वन्दना जो कोई गावे।
जीवन में कोई कष्ट न पावे।।

प्रभु दीक्षित कर पत्नी-वन्दन।
पत्नी का कर लो अभिनन्दन।।

वन्दहु पत्नी मुख-कमल,गुणअवगुण की खान।
मिले नहीं बिन आपके पतियों को सम्मान।।

।।बोलो पत्नी रानी की जय।।

पत्नी का गुस्सा!

एक दंपत्ति की शादी को साठ वर्ष हो चुके थे। उनकी आपसी समझ इतनी अच्छी थी कि इन साठ वर्षों में उनमें कभी झगड़ा तक नहीं हुआ। वे एक दूजे से कभी कुछ भी नहीं छिपाते थे। हां, पत्नी के पास उसके मायके से लाया हुआ एक डिब्बा था जो उसने अपने पति के सामने कभी नहीं खोला था। उस डिब्बे में क्या है वह नहीं जानता था। कभी उसने जानने की कोशिश भी की तो पत्नी ने यह कह कर टाल दिया कि सही समय आने पर बता दूंगी।

आखिर एक दिन बुढि़या बहुत बीमार हो गई और उसके बचने की आशा न रही। उसके पति को तभी ख्याल आया कि उस डिब्बे का रहस्य जाना जाये। बुढि़या बताने को राजी हो गई। पति ने जब उस डिब्बे को खोला तो उसमें हाथ से बुने हुये दो रूमाल और 50,000 रूपये निकले। उसने पत्‍‌नी से पूछा, "यह सब क्या है?"

पत्नी ने बताया, "जब उसकी शादी हुई थी तो उसकी दादी ने उससे कहा था कि ससुराल में कभी किसी से झगड़ना नहीं। यदि कभी किसी पर क्रोध आये तो अपने हाथ से एक रूमाल बुनना और इस डिब्बे में रखना।"

बूढ़े की आंखों में यह सोचकर खुशी के मारे आंसू आ गये कि उसकी पत्नी को साठ वर्षों के लम्बे वैवाहिक जीवन के दौरान सिर्फ दो बार ही क्रोध आया था। उसे अपनी पत्‍‌नी पर सचमुच गर्व हुआ। खुद को संभाल कर उसने रूपयों के बारे में पूछा, "इतनी बड़ी रकम तो मैंने तुम्हे कभी दी ही नहीं थी, फिर ये कहां से आये?"

"रूपये! वे तो मैंने रूमाल बेच बेच कर इकठ्ठे किये हैं।" पत्नी ने मासूमियत से जवाब दिया।

Quotes

सफलता का रहस्य है साधारण चीजों को असाधारण तरीके से करना।

Trivia

A young rabbit is called a 'kitten'.

Graffiti

If it weren't for the rains, people would be all dry.