• मन्नत मांगो जन्नत नहीं!

    एक बार एक आदमी की अपनी पत्नी से बहुत घमासान लड़ाई हो गयी तो वह गुस्से में घर छोड़ कर चला गया और जंगल में समाधि लगा कर बैठ गया।

    कईं महीनो की घोर तपस्या के बाद भगवान् उस पर प्रसन्न होकर उसके समक्ष प्रकट हुए और उससे बोले।

    भगवान्: आँखे खोलो वत्स।

    आवाज़ सुन कर उस आदमी ने आँखे खोली तो अपने सामने भगवान् को देख वह आदमी भगवान् से बोला, " हे प्रभु मेरे दुखों का निवारण करो।"

    भगवान्: बोलो वत्स तुम्हारी क्या इच्छा है।

    आदमी: प्रभु मैं अपनी पत्नी से बहुत परेशान हूँ और मैं चाहता हूँ या तो आप उसे गूंगा कर दो या मुझे फिर से कुंवारा बना दो।

    भगवान: वत्स मैंने तुम्हे मन्नत मांगने को बोला था जन्नत मांगने को नहीं।
  • गुटर-गुं

    एक बार एक आदमी अपनी प्रेमिका के साथ पार्क में बाहों में बाहें डाल कर बैठा हुआ था और कुछ बड़ी ही रूमानी बातें कर रहा था कि तभी अचानक वहां एक हवलदार आया और बोला, "आपको शर्म नहीं आती आप एक समझदार व्यक्ति होकर खुलेआम पार्क में ऐसी हरकत कर रहे हैं"।

    आदमी: देखिये हवालदार साहब आप गलत समझ रहे हैं, जैसा आप सोच रहे हैं वैसा कुछ भी नहीं है।

    हवलदार: तो कैसा है?

    आदमी: जी हम दोनों शादीशुदा हैं।

    हवालदार: अगर तुम शादीशुदा हो तो फिर अपनी ये प्यार भरी गुटरगूं अपने घर पर क्यों नहीं करते।

    आदमी: हवालदार साहब कर तो लें पर वहां मेरी पत्नी और और इसके पति को शायद अच्छा नहीं लगेगा।
  • रंग ने मरवा दिया!

    जज: एक पकडे हुए चोर स पूछताछ करते हुए," अच्छा तो तुम चार बार एक ही दुकान का ताला तोड़ते हुए पकड़े गए?"

    चोर: जी हाँ साहब।

    जज: तुमने क्या चुराया था?

    चोर: साहब मैंने एक ड्रेस चुराई थी।

    जज: जब तुम एक बार ड्रेस चुरा चुके थे तो फिर चार बार वहां आने की क्या जरुरत थी?

    चोर: साहब जो पहले तीन ड्रेस चुराई उनका रंग मेरी बीवी को पसंद नही आया।
  • तुम तो कमाल हो!

    एक औरत अपने बेडरुम के आईने के सामने खड़ी थी।

    वह अपने आपको आईने में देखकर वह बहुत नाखुश थी तभी उसके पति का वहां आना हुआ। वह अपने पति से कहती है,"देखो ना आजकल मै कितनी बुजुर्ग, मोटी और गंदी दिख रही हूं, अपनी ऐसी हालत देखकर तो मेरा मूड ही खराब हो गया है मेरा मूड ठीक करने के लिए मेरी इच्छा है कि आप कम से कम एक बार मेरी तारीफ कर दो।"

    उसके पति ने उसकी तारीफ़ करते हुए कहा,"अरे तुम तो कमाल हो इस उम्र में भी तुम्हारी आंखें इतनी अच्छी तरह से देख पाती है"।