• पति का पत्नी प्रेम!

    मेरी प्यारी बेगम,

    सवाल कुछ भी हो, जवाब तुम ही हो।

    रास्ता कोई भी हो, मंजिल तुम ही हो।

    दुःख कितना ही हो, ख़ुशी तुम ही हो।

    अरमान कितना ही हो, आरजू तुम ही हो।

    गुस्सा जितना भी हो, प्यार तुम ही हो।

    ख्वाब कोई भी हो, ताबीर तुम ही हो।

    यानी ऐसा समझो कि सारे फसाद की जड़ तुम हो और सिर्फ तुम ही हो।
  • पति - पत्नी और झगड़ा!

    पति: डार्लिंग कल सुबह क्या तुम मेरे साथ योग क्लास में चलना चाहोगी?

    पत्नी: तुम कहना क्या चाहते हो, मैं क्या मोटी हो गयी हूँ?

    पति: अरे ऐसी बात नहीं है, नहीं जाना चाहती तो मत चलो।

    पत्नी: तुम्हारा मतलब मैं आलसी हूँ।

    पति: तुम ऐसे गुस्सा क्यों कर रही हो?

    पत्नी: अब तुम्हें लग रहा है कि मैं हमेशा झगड़ती रहती हूँ।

    पति: अरे मैंने ऐसा कब बोला?

    पत्नी: अच्छा, मतलब अब मैं झूठ बोल रही हूँ।

    पति: अच्छा बाबा, मैं भी नहीं जाता।

    पत्नी: अब समझी मैं, दरअसल तुम खुद मुझे ले जाना नहीं चाहते थे और अब बहाने बना रहे हो। तुम्हारा तो हमेशा से यही काम है। सारी गलती मेरी ही है।

    पत्नी बस लगातार पति को कोसती रही और पति बेचारा चुपचाप बैठा सारी रात यह सोचता रहा कि आखिर उसने ऐसा क्या पूछ लिया जो उसकी यह हालत कर दी गयी।
  • बेचारा पति क्या करे?

    Sunday के दिन:

    1. पति अगर देर तक सोये तो
    बीवी: अब उठ भी जाओ! तुम्हारे जैसा भी कोई है क्या? छुट्टी है तो इसका मतलब यह नहीं की सोते रहोगे।

    2. पति अगर जल्दी उठ जाये तो
    बीवी: पिछले जन्म में मुर्गे थे क्या? ठीक 4:30 बजे उठ कर कुकडू-कू करने लगते हो। इतना जल्दी उठकर क्या पहाड़ तोड़ लाओगे?

    3. पति अगर सन्डे को घर पे ही रहे तो
    बीवी: कुछ काम भी कर लिया करो। हफ्ते भर बाट देखते है तुम्हारे सन्डे की, उसे भी तुम केवल नहाने धोने में ही लगा देते हो।

    4. पति अगर सन्डे के दिन घर से देर तक बाहर रहे (काम के सिलसिले में) तो
    बीवी: कहाँ थे तुम आज पूरा दिन? आज सन्डे है कभी मुँह से भगवान का नाम भी ले लिया करो।

    5. पति अगर सन्डे को पूजा करे तो
    बीवी: ये टल्ली बजाते रहने से कुछ नहीं होने वाला। अगर ऐसा होता तो इस दुनिया के रईसों में टाटा या बिल गेट्स का नाम नहीं होता बल्कि किसी पुजारी का नाम आता।

    6. अगर टाटा या बिल गेट्स जैसा बनने के लिए पति दिन रात मेहनत करे तो
    बीवी: हर वक़्त काम, काम काम, तुम्हें अपने ऑफिस के ही सात फेरे ले लेने चाहिए थे। हम क्या यहाँ पर बंधुआ मजदूर है जो सारा दिन काम करें और शाम को तुम्हारा इंतज़ार करें?

    7. पति अगर पत्नी को घुमाने ले जाए तो
    बीवी: हमारे बीच वाले जीजा जी तो दीदी को हर महीने घुमाने ले जाते हैं और वो भी स्विट्ज़रलैंड और दार्जिलिंग जैसी जगहों पर। तुम्हारी तरह "हरिद्वार" नहाने नहीं जाते।

    8. पति अगर बे खौफ हो कर नैनीताल, मसूरी, गोवा, माउन्ट आबू, ऊटी जैसी जगहों पर घुमाने ले भी जाए तो
    बीवी: अपना घर ही सबसे अच्छा, बेकार ही पैसे लुटाते फिरते है। इधर उधर बंजारों की तरह घुमते फिरो। क्या रखा है घूमने में? इतने पैसा अगर घर पर रहते तो पूरे 2 साल के लिए कपडे खरीद सकते थे।
  • मुहावरो के आधुनिक अर्थ:

    1. खुद की जान खतरे में डालना = शादी करना

    2. आ बैल मुझे मार = पत्नी से पंगा लेना

    3. दीवार से सर फोड़ना = पत्नी को कुछ समझाना

    4. चार दिन की चांदनी वही अँधेरी रात = पत्नी का मायके से वापस आना

    5. आत्म हत्या के लिए प्रेरित करना = शादी की राय देना

    6. दुश्मनी निभाना = दोस्तों की शादी करवाना

    7. खुद का स्वार्थ देखना = शादी ना करना

    8. पाप की सजा मिलना = शादी हो जाना

    9. लव मैरिज करना = खुद से युद्ध करने को योद्धा ढूंढना

    10. जिंदगी के मज़े लेना = कुँवारा रहना

    11. ओखली में सिर देना = शादी के लिए हाँ करना

    12. दो पाटों में पिसना = दूसरी शादी करना

    13. खुद को लुटते हुऐ देखना = पत्नी को पर्स से पैसे निकालते हुए देखना

    14. शादी के फ़ोटो देखना = गलती पर पश्चाताप करना

    15. शादी के लिए हाँ करना = स्वेच्छा से जेल जाना

    16. शादी = बिना अपराध की सजा

    17. साली आधी घर वाली = वो स्कीम जो दूल्हे को बताई जाती है लेकिन दी नहीं जाती..

    नोट: शादी - शुदा लोग हिम्मत रखे!