• दारू का पहाङा!

    दारू एकम दारू - महफिल हुइ चालू

    दारू दुनी गिलास - मजा आयेगा खास

    दारू तिया वाईन - टेस्ट एकदम फाईन

    दारू चौके बियर - डालो नेक्स्ट गियर

    दारू पंजे रम - भूल जाओ गम

    दारू छक्के ब्रांडी - खाओ चिकन हाँडी

    दारू सत्ते व्हिस्की - काॅकटेल है रिस्की

    दारू अठ्ठे बेवडा - लाओ सेव चिवडा

    दारू नम्मे खंबा - ज्यादा हो गइ, थांबा

    दारू दहाम चस्का - नेक्स्ट पार्टी किसका?
  • ज़हर का स्वाद!

    एक पत्नी अपने पति से काफी नाराज थी क्योंकि वो हमेशा रात को पीने के बाद देरी से घर आता था एक रात पत्नी ने कहा कि मैं भी आपके साथ आऊंगी पति ने सोचा झगड़ा बढ़ाने से बेहतर है कि इसे साथ ले चलूँ और वो चले गए!

    पति ने पूछा तो क्या लोगी तुम?

    पत्नी ने कहा जो आप लेंगे वही मैं भी ले लूँगी!

    फिर पति ने एक व्हिस्की के दो पैग मंगवाए उसकी पत्नी थोड़ी हैरानी से देखने लगी पर उसके पति ने एक ही घूंट में पूरा गिलास पी लिया उसकी पत्नी ने केवल एक सिप ही लिया था और एक दम से बाहर निकाल दिया छि: छि: ये तो कड़वा है, जहर है पूरा!

    उसने छि: छि: कहते हुए कहा कि तुम इतना कड़वा कैसे पी लेते हो!

    पति ने कहा अब पता चला!

    तुमको लगता है कि मैं रोज यहाँ रात को मजे लेता हूँ देखा कितना कड़वा होता है पीने के लिए!
  • जान बची तो लाखो पाये!

    एक बार दो शराबी रात को नशे में टुन्न होकर एयरपोर्ट पर खड़े थे। उन्होंने एक टैक्सी रोकी और टैक्सी वाले को बोले, "चलो भाई एयरपोर्ट ले चलो।"

    टैक्सी वाले ने पहले तो उनकी हालत देखी और फिर सोचा कि चलो मुफ्त के पैसे बना लेता हूँ। इसलिए उसने उनको टैक्सी में बिठाया और दो मिनट बाद ही बोला, "लो साहब एयरपोर्ट आ गया।"

    एक शराबी नीचे उतरा और टैक्सी वाले को पैसे दे रहा था कि दूसरे शराबी ने टैक्सी वाले को ज़ोरदार थप्पड़ लगा दिया।

    टैक्सी वाला डर गया कि कहीं इसे पता तो नहीं लग गया।

    इतने में शराबी बोला, "आराम से चलाया कर नहीं तो आज हम मर ही जाते।"
  • दारु असरदार!

    पहले मैं बहुत परेशान रहता था हमेशा सोता रहता था। मुझसे कोई काम नही हो पाता था। घर वालों के ताने सुनकर रो दिया करता था। फिर मैंने इस नए प्रोडक्ट के बारे में सुना, जिसका नाम है 'दारू'।

    यह सच में बहुत लाजवाब है। अब मैं अपनी नींद केवल 3-4 घंटे में ही पूरी कर लेता हूँ और हर तरह का काम कर लेता हूँ। दुनिया भर के ताने और गलियाँ हँसते-हँसते सह लेता हूँ। कितनी भी मुसीबत आए हमेशा खुश रहता हूँ। दुःख सुख की फिक्र से ऊपर उठ गया हूँ। नरक और स्वर्ग यहीं है इसका भेद समझ गया हूँ। मुझे अपने दुश्मनों से भी प्यार हो गया है।

    सच में दारू असरदार है। इसलिए दारू का क्वार्टर हमेशा अपने पास रखो और जब भी तुम्हें किसी प्रकार की कोई घबराहट हो तो अपनी दारू पी लो। तुम ज़रूर कामयाब हो जाओगे।

    क्योंकि अगर तुम दारू को सह सकते हो तो कुछ भी कर सकते हो। इसलिए आज ही दारू का सेवन शुरू करें और मुझे बुलाना मत भूलें।