• उदास क्यों हो?

    संता और बंता कई दिनों बाद मिले संता कुछ उदास सा लग रहा था और आँखों में आंसू थे।

    बंता ने पूछा, "अरे तुम तो ऐसे लग रहे हो जैसे तुम्हारा सुब कुछ लुट गया हो क्या बात है?"

    संता ने कहा, "अरे क्या बताऊँ तीन हफ्ते पहले मेरे अंकल गुजर गए और मेरे लिए 50 लाख रूपए छोड़ गए।"

    बंता: तो इसमें बुरी बात क्या है?

    संता ने कहा: और सुनो दो हफ्ते पहले मेरा एक चचेरा भाई मर गया जिसे मैं जानता भी नहीं था वो मेरे लिए 20 लाख रूपए छोड़ गया।

    बंता ने कहा: ये तो अच्छा हुआ।

    बंता ने कहा: पिछले हफ्ते मेरे दादाजी नहीं रहे और वो मेरे लिए पूरा 1 करोड़ छोड़ गए।

    बंता ने कहा: ये तो और भी अच्छी बात है पर तुम इतना उदास क्यों हो?

    संता ने कहा: इस हफ्ते कोई भी नहीं मरा।
  • गधे की औलाद!

    एक बार पप्पू एक अनजान नंबर से संता को कॉल करता।

    संता: हेल्लो।

    पप्पू: उल्लो, पुल्लो, कुल्लो।

    संता: कौन है बे?

    पप्पू: एक इंसान।

    संता: वो तो पता है, नाम बोल?

    पप्पू: मैं एक गंदा बच्चा हूँ।

    संता: तेरी तो ऐसी की तैसी, कहाँ रहता है तू?

    पप्पू: पृथ्वी पर।

    संता: वो तो पता है, फोन क्यों किया?

    पप्पू: तुझे परेशान करने के लिए।

    संता: रुक कम्बखत, अपने बाप को बुला, गधे की औलाद।

    पप्पू: हेल्लो पापा, मैं पप्पू।
  • तलाक

    एक बार एक जज ने महिला से पूछा, "आप अपने पति से तलाक क्यों लेना चाहती है?"

    सवाल सुन महिला ने जवाब दिया, "जज साहब यह मेरा पति रात को दो बजे घर आया, इसने बुरी तरह शराब पी रखी थी तो मैंने इसके जूते उतारे, कपड़े बदलवाए, खाना खिलाया, सुलाने लगी तो यह मुझसे बोला, "तुम मुझे इतना प्यार करती हो रंजना?"

    यह सुन जज ने कहा, "लेकिन यह तो तलाक की कोई वजह नही हुई!"

    जज की बात सुन महिला जवाब देती है, "बिल्कुल है जज साहब क्योंकि मेरा नाम रंजना नही, निर्मला है!"
  • डॉक्टर की सलाह!

    कल मैं अपने हेल्थ के बारे में अपने डॉक्टर से मिलने गया! डॉक्टर ने गंभीर होकर सलाह दी!

    1) ज़्यादातर पैदल चला करो।
    2) कोल्डड्रिंक्स कम कर दो।
    3) शराब तो बिलकुल ही छोड़ दो।
    4) बहुत ज्यादा पानी पीओ।
    5) अगर आस-पास जाना हो तो रिक्शा में मत जाओ, चल के जाओ।
    6) बाहर का खाना पूरी तरह से बंद करो।
    7) घर पर तेल, घी मत खाओ और मांस, अंडे, मछली खाना बंद करो।

    मैंने "हाँ" तो बोल दिया फ़िर डरते-डरते सवाल पूछा: डॉक्टर साहब असल में मुझे हुआ क्या है?

    तब डॉक्टर ने कहा: तुम्हें हुआ "कुछ नहीं" है। मार्किट में काम धंधा है नहीं, मंदी बहुत छाई है। तुम्हारी कमाई वैसे ही कम है। बीमार हो गए तो इलाज झेल नहीं पाओगे।
Test