• सोच को साफ़ रखो!

    एक लड़की सब्ज़ी लेने सब्ज़ी मंडी गयी और वहां सब्ज़ी वाले से बोली, "मुझे कोई ऐसी सब्ज़ी दो जिसके 7 फायदे हों।"

    सब्ज़ी वाला: यह लो मैडम यह गाज़र ले लो।

    1. आलू के साथ पका सकती हो।
    2. जूस निकाल कर पी सकती हो।
    3. सलाद बना सकती हो।
    4. गाजर का हलवा बना सकती हो।
    5. नूडल्स में डाल सकती हो।
    6. मुरब्बा बना सकती हो।
    और
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    7. आचार बना सकती हो।

    भाई तू क्या ढूंढ रहा है और...
  • ख़ास सेवा!

    एक बार एक पुजारी और वकील मर गए और दोनों स्वर्ग के दरवाजे पर खड़े हो गए, यमदूत ने उन दोनों को अन्दर भेजा और दोनों अन्दर चले गए।

    अन्दर एक और यमदूत खड़ा था जो उन दोनों को उनके कक्ष तक ले गया।

    पहले पुजारी को उसके कक्ष तक छोड़ा जो एक छोटा सा कमरा था जिसमें एक बिस्तर और छोटा सा मेज़ लगा था। पुजारी ने यमदूत को धन्यवाद कहा और यमदूत वकील को लेकर उसके कक्ष कि तरफ चल पड़ा।

    जब वो दूसरे कक्ष के पास पहुँचा तो ये एक बहुत बड़ा कमरा था जिसमे डबल बेड, एक बड़ी अलमारी, किताबों से भरा हुआ रैक और एक सुन्दर औरत और भी बाकी सभी प्रकार की सुविधाओं से वो कमरा भरा हुआ था।

    वकील ने कहा कि मुझे यह समझ नहीं आया कि आपने पुजारी को एक छोटा सा कमरा दिया और मुझे सारी सुविधाओं से भरा ये इतना बड़ा कमरा?

    इस पर यमदूत बोला, "साहब हमारे पास यहाँ स्वर्ग में बहुत से पुजारी हैं पर वकील आप पहले हैं इसलिए।"
  • पति-पत्नी के कुछ किस्से!

    पत्नी: चलो एक खेल खेलते हैं, मैं छुपती हूँ और आप मुझे ढूंढ़ना। अगर आपने ढून्ढ लिया तो मैं आपके साथ शॉपिंग करने चलूंगी।
    पति: और अगर नहीं ढून्ढ पाया तो?
    पत्नी: ऐसा मत कहो जानू, बस दरवाज़े के पीछे ही छुपूंगी।

    एक औरत अपने बॉयफ्रेंड के साथ बाजार में घूम रही थी कि तभी उसका पति मिल गया। पति दोनों को देखा और पत्नी के बॉयफ्रेंड को पीटना शुरू कर दिया।
    पत्नी: मारो और मारो, अपनी बीवी को कभी घुमाने नहीं ले गया औरों की बीवियों को घुमाता है।
    तभी बॉयफ्रेंड को जोश आ गया और उसने पति को पीटना शुरू कर दिया।
    औरत: मारो और मारो, खुद तो कभी घुमाने ले जाता नहीं और दूसरों को भी नहीं घुमाने देता।

    पति: साहब मेरी पत्नी गुम हो गयी है।
    पोस्ट मॉस्टर: अभे अँधा है क्या? ये पोस्ट ऑफिस है, पुलिस स्टेशन नहीं।
    पति: माफ़ करना भाई, क्या करूँ ख़ुशी के मारे कुछ समझ नहीं आ रहा कि किधर जाऊं।
  • एक एडमिन का दर्द

    एक तो खुद के मोबाइल पे पैसा खर्च करके इन सब को जोड़ो...

    फिर इन माँ के लाडलो के नखरे उठाओ.... कि कभी कोई लेफ्ट तो कभी कोई लेफ्ट होने की धमकी दे रहा है... जैसे कि मेरे लड़के की बारात मे आए हों।

    कोई कुछ मैसेज करे तो दूसरा बन्दा पहले उसका उल्टा मतलब निकालता है, फिर एडमिन की छाती पे मूंग दलता है कि उसे समझाओ।

    कभी कोई नासपीटा.... चुड़ैल की फोटो डाल कर नीचे लिख देता है, "I Love You Admin" जैसे एडमिन न हो गये सबके फूफा हो गए।

    और तो और पेपर वालों की, अख़बार वालों की भी जय हो...रोज के रोज यही छापते रहते हैं....एडमिन को होगी जेल!

    सालो... ये भी कोई बात हुई ...जैसे गरीब की लुगाई... सबकी भौजाई!

    सालो.... गंदगी कोई करे... समेटने की ठेकेदारी... एडमिन की!