• वैज्ञानिक पति!

    पत्नी ने अपने वैज्ञानिक पति को फोन किया!

    पत्नी: आप आये नहीं, बाहर डिनर का प्रोग्राम था, लेट हो रहे हैं!

    पति: प्रिये, मैं अपनी टीम के साथ एक 'खास प्रयोग' में व्यस्त हूँ!

    पत्नी: कैसा प्रयोग?

    पति: हमने एक विशेष यौगिक C2H5OH (व्हिस्की) में सामान्य तापमान पर H2O (पानी) और तरल CO2 (सोडा) मिलाया! इस मिश्रण को निम्न तापमान पर पहुँचाने के लिये हमने इसमें अत्यधिक निम्न तापमान वाले ठोस H2O (बर्फ) को भी तय मात्रा में डाला है! अभी हम बाहर से protein (चिकन टिक्का) तत्व के आने का इंतज़ार करते हुये लेबोरेट्री के वातावरण nicotine (सिगरेट) की वाष्प से सुवासित कर रहे है! यह प्रयोग 5-6 चरणों तक चलेगा! आने में ज्यादा देर हो सकती है।

    पत्नी : ओह, सॉरी, मैंने आपको ख़ामख़्वाह डिस्टर्ब कर दिया, आप अपने काम पर ध्यान दो! मैं अपने लिये खिचड़ी बना लेती हूँ! आप भी कुछ मंगवा कर ख़ा लो।
  • मायके जाने के फायदे!

    बीवियों के मायके रहने जाने का चलन, साल में 3 बार होना चाहिए। इसके कुछ फायदे इस प्रकार हैं:

    1. इससे पति-पत्नी में प्रेम बढ़ेगा।

    2. तलाक के मामले काम हो जायेंगे।

    3. मायके में भी बीवियों को अपना भाव पता चल जायेगा।

    4. पति की क़द्र बढ़ेगी।

    5. बार-बार मायके की धमकी कम होगी।

    6. दामाद के प्रति सहानुभूति बढ़ेगी।
  • बारिश का बहाना है!

    एक दिन पति-पत्नी के बीच झगड़ा हो गया।

    पति: बस-बस, बहुत हो चुका। आज तुमने मेरा दिल तोड़ दिया है। अब मैं इस घर में तुम्हारे साथ नहीं रह सकता। आज की लड़ाई हमारी अंतिम लड़ाई है। मैं इसी वक़्त घर छोड़ कर जा रहा हूँ।

    इतना कह कर पति दरवाज़े की तरफ बढ़ गया।

    पत्नी: कहाँ जा रहे हो?

    पति: वहाँ जा रहा हूँ, जहाँ तुम मुझे ढूंढ ना सकोगी। दूर कहीं जंगलो में, ऊँचे-ऊँचे पहाड़ों पर, विशाल समंदर पार कर।

    पति ने दरवाज़ा खोला और फिर बंद कर दिया।

    पत्नी: क्या हुआ, अब गए क्यों नहीं?

    पति: बस यह बारिश थोड़ी काम हो जाने दो।
  • तारीफ भी पड़ गयी महंगी!

    एक आदमी की शादी को 20 साल हो गए थे लेकिन उसने आज तक अपनी पत्नी के हाथ से बने खाने की तारीफ नहीं की।

    एक दिन जब वो दफ्तर से घर वापस आ रहा था तो रास्ते में उसे एक बाबा मिले। बाबा ने उस आदमी को रोका और कुछ खाने को माँगा तो आदमी ने बाबा को खाना खिला दिया। बाबा आदमी से बहुत प्रसन्न हुए तो उन्होंने आदमी से कहा कि अगर उसे कोई समस्या है तो बताओ, हम उसका हल कर देंगे।

    आदमी बोला, "बाबा जी, बहुत समय से कोशिश कर रहा हूँ लेकिन काम में तरक्की नहीं हो रही।"

    बाबा: बेटा, तुमने अपनी पत्नी के खाने की कभी तारीफ नहीं की। अपनी पत्नी के खाने की तारीफ करो, तुम्हें अवश्य तरक्की मिलेगी।

    आदमी बाबा को धन्यवाद बोल कर चल दिया।

    घर पहुँच कर उसकी पत्नी ने खाना परोसा, आदमी ने खाना खाया और खाने की जम कर तारीफ की।

    पत्नी एक दम से उठी और रसोई घर से बेलन लेकर आई और आदमी की पिटाई शुरू कर दी।

    आदमी: क्या हुआ? मैं तो तुम्हारे खाने की तारीफ कर रहा हूँ।

    पत्नी: 20 साल हो गए आज तक तो खाने की तारीफ नहीं की और आज जब पड़ोसन खाना दे कर गयी है तो तुम्हें ज़िन्दगी का मज़ा आ गया।