• दिखावे पे ना जाओ अपनी अक्ल लगाओ!

    एक लड़की हर रोज़ जब कॉलेज से घर आती तो एक लड़के को अपने घर के आगे खड़ा देखती। जब लड़की उस लड़के की तरफ देखती तो लड़का या तो इधर-उधर देखने लग जाता या फिर अपने मोबाइल पर देखता।

    हर रोज़ ऐसा होता और ऐसा होते-होते पूरा एक साल बीत गया।

    लड़की को यकीन हो गया कि लड़का उससे प्यार करता है पर कुछ कह नहीं पा रहा। इसलिए लड़की ने एक दिन खुद ही अपने घर वालों से बात कर ली। घर वाले भी बात समझ गए और उनकी शादी के लिए तैयार हो गए।

    अगले दिन लड़की ने हिम्मत करके लड़के से कहा, "तुम लगातार एक साल से हर रोज़ मेरे घर के आगे खड़े हो जाते हो। मुझे पता है कि तुम मुझ से बहुत प्यार करते हो और मैं भी तुमसे शादी करने के लिए तैयार हूँ।"

    यह सुनकर लड़का डर गया और कांपते-कांपते बोला, "आप गलत समझ रही हैं बहन जी, दरअसल आपके Wi-Fi पर पासवर्ड नहीं लगा हुआ और मैं तो हर रोज़ मुफ्त में Wi-Fi का इस्तेमाल करने के लिए आपके घर के आगे खड़ा होता हूँ!"
  • शराबी की शालीनता!

    शराब का हमारी अर्थव्यवस्था में बडा महत्व है, क्योंकि शराबी एक मॉडल टैक्सपेयर होता है। किसी भी आइटम पर टैक्स लगाया जाये, उसे देने वाला बवाल मचा देता है। पैट्रोल पर एक डेढ़ रुपया बढ़ जाऐ, मार ड्रामा शुरु हो जाता है। बीएमडब्ल्यु वाला भी हुड़की लगाकर चैनलों को बयान देने लगता है कि हम मर गये, लुट गये, तबाह हो गये।

    पर शराब का खरीदार अत्यंत शालीन होता है। औसतन हर साल शराब के भाव 15-20 परसेंट तो बढ़ते ही है, दिखा दे मुझे कोई कि कभी किसी शराबी ने चिक-चिक मचायी हो। इतिहास में एक भी जुलूस ऐसा नहीं दर्ज है, जिसमें शराब के खरीदारों ने डीएम को जुलूस निकालकर ज्ञापन दिया हो कि प्लीज दारु सस्ती कर दो। ऐसे उद्विग्न समय में शराबी का संयम सराहनीय है, ये इतनी दुर्लभ विशेषता है कि सिर्फ शराबियों में ही पायी जाती है।

    प्रदेश में शराब का कारोबार करीब 14,000 करोड़ रुपये का टर्नओवर दिखा रहा है, करीब 17,000 दुकानें हैं, सभी पर अनवरत लाईन लगी हुई है, कई की जालीदार खिडकियाँ तो सुबह ब्रह्मकाल मे ही खडका दी जाती है।

    इसलिए लोगो को अनुशासन, शालीनता और संयम का पाठ अगर लेना हो तो किसी शराबी से लें।

    जारी कर्ता: शराबी संघ
  • छुट्टी नहीं मिल सकती!

    एक दिन बंता अपने बॉस से मिलने उसके ऑफिस में गया!

    बंता: सर मैं अन्दर आ सकता हूँ!

    बॉस: अरे बंता, आओ... आओ!

    बंता: सर कल हमने अपने घर कि पूरी सफाई करनी है और मेरी बीवी प्रीतो को इस काम के लिए मेरी मदद चाहिए काफी सामान है जो उठाकर इधर उधर करना है इसलिए मुझे.....?

    बॉस: बंता देखो हमारे पास पहले ही स्टाफ की कमी है नहीं... नहीं मैं तुम्हें छुट्टी नहीं दे सकता!

    बंता: थैंक्यू सर थैंक्यू मुझे आप पर पूरा भरोसा था!
  • गलत नंबर!

    एक बार एक कामकाजी महिला की पदोन्नति के बाद उसका एक बड़े शहर में तबादला हो गया तो वह अपना कार्यभार संभालने उस महानगर में पहुँच गयी।

    वहां पहुँच कर उसने देखा कि उसे कंपनी ने रहने के लिए एक फ्लैट भी दे दिया है, यह देख उसने तुरंत अपने पत्नी को इसके बारे में सूचना देने के इरादे से अपने मोबाइल पे SMS लिखा, परन्तु गलती से उसे गलत नंबर पर भेज दिया।

    जिस आदमी को वह SMS मिला वह अपनी पत्नी का अंतिम संस्कार करके लौट रहा था, SMS पढ़ते ही वह आदमी बेहोश हो गया और उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा क्योंकि SMS में लिखा था:

    प्रियतम,
    मैं सही-सलामत पहुंच गई हूं और यहां रहने के लिए अच्छी जगह भी मिल गई है, आप बिलकुल चिंता मत करना बस 1-2 दिन में ही आपको भी बुला लूंगी।

    आपकी प्यारी पत्नी!