• आखिरी इच्छा!

    एक बार एक आदमी अपने घर के पीछे पेड़ लगाने कि लिए गढ्ढा खोद रहा था, कोई 2 फुट खोदने के बाद उसे एक चिराग मिला। उसने उसे बाहर निकाला और उसे साफ़ करने लगा अचानक ही उससे एक जिन्न प्रकट हो गया और कहने लगा मैं तुम्हारी तीन इच्छाएँ पूरी कर सकता हूँ।

    उस आदमी ने सोचा कि ये तो बहुत अच्छा है।

    जिन्न ने कहा, "तुम मुझे पहले ये बताओ कि तुम सबसे ज्यादा नफरत किससे करते हो?"

    उस आदमी ने कहा कि मैं अपने पडोसी से सबसे ज्यादा नफरत करता हूँ।

    जिन्न ने कहा, "देखो तुम्हारी जो भी तीन इच्छाएँ होगी या जो भी तुम मांगोगे तुम्हारे पडोसी को उसका दुगना मिलेगा।"

    उस आदमी ने जल्दबाजी में जिन्न से कहा कि उसे 1 करोड़ रूपए दे दो।

    जिन्न ने कहा, "ठीक है पर तुम्हारे पडोसी को दो करोड़ मिलेंगे।"

    उस आदमी ने अपनी दूसरी इच्छा भी जल्द ही मांग ली उसने जिन्न से कहा कि उसे एक बहुत बड़ा बंगला नौकरों के साथ चाहिए।

    जिन्न ने कहा, "मिल जायेगा पर पडोसी को दो बंगले मिलेंगे वो भी दुगने नौकरों के साथ।"

    अब उस आदमी की आखिरी इच्छा बची थी उसने सोचा कि मैं जो भी मांग रहा हूँ पडोसी को उसका दुगना मिल रहा है तो बड़े सोच विचार के बाद उसने जिन्न से कहा कि मेरी आखिरी इच्छा ये है कि आप मुझे मार मार कर अधमरा कर दो।
  • खाने में क्या बनाऊं?

    पत्नी: खाने में क्या बनाऊं?

    पति: कुछ भी बना लो, क्या बनाओगी?

    पत्नी: जो आप कहो?

    पति: दाल चावल बना लो।

    पत्नी: सुबह ही तो खाये थे।

    पति: तो रोटी सब्जी बना लो।

    पत्नी: बच्चे नहीं खायेंगे।

    पति: तो छोले पूरी बना लो।

    पत्नी: मुझे तली हुई चीज़ें भारी लगती हैं।

    पति: अंडे की भुर्जी बना लो।

    पत्नी: आज वीरवार है।

    पति: परांठे?

    पत्नी: रात को परांठे नहीं खाने चाहिए।

    पति: होटल से मंगवा लेते हैं।

    पत्नी: रोज-रोज बाहर का नहीं खाना चाहिए।

    पति: कढ़ी चावल?

    पत्नी: दही नहीं है।

    पति: इडली सांभर?

    पत्नी: समय लगेगा, पहले बोलना था।

    पति: एक काम करो मैग्गी बना लो।

    पत्नी: पेट नहीं भरता मैग्गी से।

    पति: तो फिर क्या बनाओगी?

    पत्नी: जो आप बोलो।
  • जैसे को तैसा!

    एक बार एक डॉक्टर रात को सोया हुआ था। रात को अचानक डॉक्टर की नींद खुली उसने देखा कि उसका टॉयलेट पूरी तरह से ब्लॉक हो गया है।

    उसने अपनी पत्नी से कहा, "मैं अभी प्लम्बर को बुलाता हूं।"

    पत्नी ने पूछा, "तुम प्लम्बर को रात को तीन बजे बुलाओगे?"

    डॉक्टर: हाँ क्यों नहीं, मैं तो बुलाऊंगा। हम भी तो जाते हैं रात को अगर कोई मरीज बीमार हो जाये।

    उसने प्लम्बर को फोन किया, शिकायत की और उसे रात को ही आने को कहा। प्लम्बर ने सुबह आने को कहा तो डॉक्टर ने फिर से वही बात कही, "अगर मैं रात को मरीज देखने जा सकता हूं तो तुम क्यों नहीं आ सकते?"

    रात को करीब 3:30 बजे प्लम्बर आंखों को मसलता हुआ पहुंचा। डॉक्टर ने उसे टॉयलेट दिखाया।

    प्लम्बर बाहर गया, वहां कुछ गोलियां पड़ी हुई थी। उसने दो गोलियां उठा कर टॉयलेट में डाल दी और डॉक्टर से कहा, "अगर कोई फर्क नहीं पड़े तो सुबह फिर से मुझे कॉल कर लेना।
  • सौ जमात की पढ़ाई!

    एक बै शगाई आले लड़का देखण आ रे थे।

    लड़की के बाप ने लड़के के दादा ते पुछेया: चौधरी शाब, छोरा कौथी (किस) जमात में पढ़ै सै?

    ताऊ: भाई, न्यूं तै बेरा ना अक कौथी में पढ़ै सै, पर छोरा पूरी सौ जमात पढ़ रहया सै।

    "सौ जमात? न्यूं किक्कर चौधरी?"

    "भाई आठ जमात तै म्हारे गाम के श्कूल (Middle School) में पाश करी। फेर बड्डे श्कूल (High School) में दस जमात (Matric) पाश करी। अठारह जमातां तो यो हो गी।"

    "ओर बाकी?"

    "भाई रे, बाकी ब्याशी (B.Sc) जमातां उसनै हिशार के जाट कालेज ते पाश करी। न्यू हो गया पूरा सैंकड़ा।"