• नींद ना आने का इलाज़!

    एक दिन संता थका हारा डॉक्टर के पास आता है और डॉक्टर से कहता है डॉक्टर साहब मेरे पड़ोस में बहुत सारे कुत्ते है जो रात दिन भौंकते रहते है जिस कारण में एक घड़ी के लिए भी नहीं सो पाता।

    डॉक्टर ने कहा इसमें कोई चिंता की बात नहीं है मैं तुम्हें कुछ नींद की गोलियां दे देता हूँ वे इतनी असरदार है कि तुम्हें पता ही नहीं चलेगा कि तुम्हारे पड़ोस में कोई कुत्ता है भी या नहीं। ये दवाइयाँ तुम ले जाओ और अपनी परेशानी दूर करो।

    कुछ हफ्ते बाद संता वापस डॉक्टर के पास आया और पहले से ज्यादा परेशान लग रहा था और डॉक्टर से कहने लगा डॉक्टर साहब आपकी योजना ठीक नहीं थी अब तो मैं पहले से ज्यादा थक गया हूँ।

    डॉक्टर मैं नहीं जानता कि ये कैसे हो गया पर जो दवाईयां दी थी वे नींद आने की सबसे बढ़िया गोलियां थी चलो फिर भी आज मैं तुम्हें उससे भी ज्यादा असरदार गोलियां देता हूँ।

    संता: क्या ये सचमुच असर करेंगी पर मैं सारी रात कुतों को पकड़ने में लगा रहता हूँ और मुश्किल से अगर एक-आध को पकड़ भी लूँ तो उसके मुहं में गोली डालना बहुत मुश्किल हो जाता है।
  • एक परेशान आदमी की दास्तान!

    एक आदमी ड्राइविंग लाइसेंस हासिल करने की कोशिश में था तो ड्राइविंग लाइसेंस के लिए चौथी बार ड्राइविंग टेस्ट दिया, इस दौरान वो इतना मशहूर और पसंदीदा हो चुका था कि इस बार अफसर ने उसके लिए एक ही सवाल रखा था।

    सवाल: आप 120 की रफ्तार से एक ऐसी सड़क से गुजर रहे हो जिसके एक ओर ऊंचा पहाड़ और दूसरी तरफ गहरी खाई है, सामने दो औरतें आ जाती हैं एक जवान और एक बूढ़ी तो अब आप किसे मारेंगें?

    आदमी ने तुरंत जवाब लिखा कि मैं बूढ़ी औरत को मारूँगा।

    हस्बे मुताबिक़ आदमी इम्तिहान में फिर फेल हो गया। आदमी अफसर से मिला और वजह पूछी तो उसने आदमी को ध्यान से देखा और ठंडी सांस भर कर कहा, "भाई आपको आखिरी बार बता रहा हूँ कि आप ब्रेक मारेंगे, किसी औरत-वौरत को नहीं।
  • हिसाब बराबर!

    एक बार एक मरता हुआ पति अपनी पत्नी से अपराध स्वीकारोक्ति करते हुए बोला।

    पति: प्रिये, दो साल पहले अलमारी से तुम्हारा गोल्ड सेट मैंने ही चोरी किया था।

    पत्नी (रोते हुए): कोई बात नहीं जी।

    पति: एक साल पहले तेरे भाई ने तुझे जो 1 लाख रूपए दिए थे वो भी मैंने ही गायब किये थे।

    पत्नी: कोई बात नहीं मैंने आपको माफ़ किया।

    पति: तेरी कमेटी के पैसे भी मैंने ही चोरी किये थे।

    पत्नी: कोई बात नहीं जी, आपको ज़हर भी मैंने ही दिया है इसलिए हिसाब बराबर।
  • क्या खाओगे?

    पत्नी:खाने में क्या बनाऊँ?

    पति: कुछ भी बना लो क्या बनाओगी?

    पत्नी: जो आप कहो।

    पति: दाल चावल बना लो।

    पत्नी: सुबह ही तो खाए थे।

    पति: तो रोटी सब्जी बना लो।

    पत्नी: बच्चे नहीं खायेंगे।

    पति: तो छोले पूरी बना लो।

    पत्नी: मुझे तली हुई चीजों से परहेज़ है।

    पति: तो अंडा भुर्जी बना लो।

    पत्नी: आज बृहस्पतिवार है।

    पति: पराठे?

    पत्नी: रात को पराठे नहीं खाने चाहिए।

    पति: कढी-चावल?

    पत्नी: दही नहीं है।

    पति: इडली सांभर?

    पत्नी: समय लगेगा न, पहले बोलना था।

    पति: होटल से मंगवा लेते हैं।

    पत्नी: रोज़ रोज़ बाहर का खान ठीक नहीं है।

    पति: अच्छा मैग्गी बना लो।

    पत्नी: पेट नहीं भरेगा।

    पति: तो फिर क्या बनाओगी?

    पत्नी: जो आप कहो।