• व्हाट्सएप ज्योतिषी!

    1. जिसकी डीपी स्थिर रहती है उसका स्वभाव शांत रहता है!

    2. बार-बार डीपी बदलने वाले चंचल स्वभाव के होते है!

    3. छोटे स्टेटस रखने वाले संतोषी प्रवृत्ती होते हैं!

    4. हमेशा स्टेटस बदलने वाले शौकीन होते हैैं!

    5. सतत कुछ न कुछ शेअर करने वाले दिलदार मन के होते हैं!

    6. कभी भी किसी को लाईक न करने वाले घमंडी होते हैं!

    7. प्रत्येक पोस्ट पर दिल से प्रतिक्रिया देने वाले रसिक और दुसरो की भावनाओं का आदर करने वाले होते हैं!

    8. इधर के मेसेज उधर फेंकने वाले राजनितीक प्रवृत्ति के होते हैं!

    9. फोटो या पोस्ट देखते ही ओपन करने वाले अधीर स्वभाव के होते हैं!

    10. पुरानी पोस्ट बार बार चिपकाने वाले उद्दंड होते हैं!

    11. दुसरे की पोस्ट को पीछे कर स्वतः की पोस्ट आगे ढकलने में माहिर व्यक्ती खुद के बोलबाले करने वाले होते हैं!

    12. मेसेज पढ़कर भी प्रतिक्रिया न देने वाले संकुचित प्रवृत्ती के होते हैं!

    13. कभी भी कुछ भी शेअर न करने वाले कंजूस होते हैं!

    14. बड़े मेसेज ना पढ़ने वाले आलसी या अति व्यस्त होते हैं!

    15. अलग अलग वॉट्स अप ग्रुप बनाने वाले अति महत्वाकांक्षी होते हैं!

    16. काम तक सीमित वॉट्सअप चालू रखने वाले जीवन में यशस्वी होते हैं!

    नोट - देखिये... आप कहाँ फिट होते हैं?
  • नारी शक्ति!

    एक औरत ख़रीदारी करने शॉपिंग मॉल मैं गई कैश काउंटर पर पेमेंट करने के लिए उसने पर्स खोला तो दुकानदार ने महिला के पर्स में टीवी का रिमोट देखा, दुकानदार से रहा नहीं गया उसने पूछा, "आप टीवी का रिमोट हमेशा अपने साथ लेकर चलती हैं?"

    औरत: नहीं, हमेशा नहीं, लेकिन आज मेरे पति ने खरीदारी के लिए मेरे साथ आने से मना कर दिया था।

    दुकानदार हंसते हुए बोला, "मैं सभी सामान वापस रख लेता हूँ आप के पति ने आपका क्रेडिट कार्ड ब्लॉक कर दिया हैं।

    शिक्षा: अपने पति के शौक का सम्मान करें।

    कहानी अभी भी जारी है;

    महिला थोड़ी हँसी फिर अपने पर्स से अपने पति का क्रेडिट कार्ड निकला और सभी बिल की पेमेंट कर दी। पति ने पत्नी का कार्ड ब्लॉक कर दिया था पर अपना कार्ड नहीं।

    शिक्षा: एक नारी की शक्ति को कभी कम नहीं समझना चाहिए।
  • बेचारा पति!

    पत्नी को किसी किटी पार्टी में जाना था तो उसने अपने पति से पूछा, "सुनो जी मैं कौन सी साड़ी पहनूं? ये नीली वाली या लाल वाली?

    पति: नीली वाली पहन लो।

    पत्नी: लेकिन नीली वाली तो मैंने परसो भी पहनी थी।

    पति: अच्छा तो फिर लाल ही पहन लो।

    पत्नी: अच्छा अब यह बताओ, लाल साड़ी के साथ सैंडल कौन से अच्छे लगेंगे? ये फूल वाले या प्लेन?

    पति: प्लेन वाले।

    पत्नी: अरे मैं पार्टी में जा रही हूँ, किसी कथा में नहीं। थोड़ी तड़क -भड़क तो दिखनी चाहिए ना।

    पति: ताे ठीक है फूल वाले पहन लो।

    पत्नी: अच्छा बिंदी कौन सी अच्छी लगेगी? ओवल या ये बड़ी या ये छोटी सी?

    पति: मेरे ख्याल से तो ओवल ठीक रहेगी।

    पत्नी: तुम्हें फैशन का जरा भी आइडिया नहीं है। मैंने जो साड़ी पहनी है ना, उसके साथ तो ये छोटी ही अच्छी लगेगी।

    पति: तो ठीक है, छोटी बिंदी ही लगा लो।

    पत्नी: अच्छा, पर्स कौन सा जमेगा? यह क्लच या बड़ा हैंडबैग।

    पति: क्लच ले लो।

    पत्नी: अाजकल तो बड़े हैंडबैग का फैशन है।

    पति: ताे अरे बाबा, वही ले जाओ, मुझे क्या करना है। बस पार्टी को एंजॉय करना।

    पत्नी जब पार्टी से लौटकर आई तो बड़े गुस्से में थी।

    पति: अरे क्या हुआ?

    पत्नी: तुम एक भी काम ढंग से नहीं कर सकते क्या?

    पति: क्यों मैंने क्या गलत कर दिया?

    पत्नी: पार्टी में सब मेरा मजाक उड़ा रहे थे कि कैसी साड़ी पहनकर आ गई, कैसी बिंदी लगाई है, पर्स और सैंडल पर भी कमेंट पास कर रहे थे।

    पति: तो इसमें मेरा क्या दोष है?

    पत्नी: सब मैंने तुमसे ही पूछ कर किया था न? ढंग से नहीं बता सकते थे क्या? इससे तो अच्छा था कि मैं खुद ही डिसाइड कर लेती।
  • गुटर-गुं

    एक बार एक आदमी अपनी प्रेमिका के साथ पार्क में बाहों में बाहें डाल कर बैठा हुआ था और कुछ बड़ी ही रूमानी बातें कर रहा था कि तभी अचानक वहां एक हवलदार आया और बोला, "आपको शर्म नहीं आती आप एक समझदार व्यक्ति होकर खुलेआम पार्क में ऐसी हरकत कर रहे हैं"।

    आदमी: देखिये हवालदार साहब आप गलत समझ रहे हैं, जैसा आप सोच रहे हैं वैसा कुछ भी नहीं है।

    हवलदार: तो कैसा है?

    आदमी: जी हम दोनों शादीशुदा हैं।

    हवालदार: अगर तुम शादीशुदा हो तो फिर अपनी ये प्यार भरी गुटरगूं अपने घर पर क्यों नहीं करते।

    आदमी: हवालदार साहब कर तो लें पर वहां मेरी पत्नी और और इसके पति को शायद अच्छा नहीं लगेगा।