• होशियारी पड़ गयी भारी!

    नए-नए रईस हुए एक साहब को लोगों के ऊपर अपनी अमीरी का रौब झाड़ने का शौक चढ़ गया। इसी के चलते एक रोज उनके घर मेहमान आने वाले थे तो उन्होंने अपने नौकर को बुलाया और समझाने लगे, "मेहमानों के सामने मैं किसी भी चीज़ को तलब करूँ तो उसकी 2-3 किस्मों के नाम लेना ताकि उन पर रौब पड़ सके, समझ गए।"

    नौकर: जी हुज़ूर बिल्कुल समझ गया।

    अगले रोज मेहमान आ गए। साहब ने नौकर से कहा, "ठाकुर साहब के लिए शरबत लाओ।"

    नौकर: हुज़ूर, कौन सा शरबत लेंगे, खस का, केवड़े का या बादाम का?

    नौकर की समझदारी पर साहब मन ही मन खुश होते हुए बोले, "केवड़े का ले आओ।"

    फिर थोड़ी देर बाद-
    साहब: ठाकुर साहब के लिए खाना लगवाओ।

    नौकर: हुज़ूर, कौन सा खाना खायेंगे इंडियन, कांटिनेंटल या चाइनीज?

    खाने के बाद-
    साहब: पान ले आओ।

    नौकर: कौन सा पान हुज़ूर लखनवी, मुरादाबादी या बनारसी?

    फिर थोड़ी देर बाद शहर घूमने का प्रोग्राम बन गया।
    साहब: हमारी गाड़ी निकलवाओ।

    नौकर: कौन सी गाड़ी हुज़ूर, सफारी, ऑडी, मर्सिडीज़, या बेंटली?

    साहब: ऑडी निकलवाओ और सुनो हमारे पिताजी से कह देना कि हम ज़रा देर से आयेंगे।

    नौकर: कौन से पिताजी से कहूँ हुज़ूर आगरा वाले, दिल्ली वाले या चंडीगढ़ वाले?
  • कानूनी तोता!

    एक वकील साहब तोता खरीदने तोते वाली दुकान पर गए।

    वकील साहब: कोई कानूनी खासियत वाले तोते होगें तुम्हारे पास?

    तोते वाला: हाँ साहब हैं।

    और तोते वाले ने तीन पिंजरे वकील साहब के सामने पेश कर दिये,

    पहले वाले पिंजरे में एक मोटा तगडा तोता था,
    दूसरे वाले पिंजरे में एक दुबला पतला तोता था,
    और तीसरे पिंजरे में एक मरियल सा तोता था।

    वकील साहब: ये मोटा वाला तोता कितने का है?

    तोते वाला: साहब यह 10000 का है।

    वकील साहब: इतना महंगा! ऐसी क्या खासियत है इसमें?

    तोते वाला: साहब यह C.P.C का Expert है।

    वकील साहब: ये दुबला वाला तोता कितने का है?

    तोते वाला: साहब यह 20000 का है।

    वकील साहब: इसकी क्या खासियत है?

    तोते वाला: साहब यह Cr.P.C.का Master है।

    वकील साहब: ये मरियल वाला तोता कितने का है?

    तोते वाला: साहब यह 50000 का है।

    वकील साहब: इसकी क्या खासियत है?

    तोते वाला: साहब खासियत तो इस साले में कुछ नहीं है बस ये दोनों तोते इसको My Lord... My Lord कहते है।
  • सब गोलमाल है!

    एक व्यक्ति बढ़िया सा कपड़ा खरीदा और सूट सिलवाने के लिेए एक दर्जी के पास गया। दर्जी ने कपड़ा लेकर नापा और कुछ सोचते हुए कहा, "कपड़ा कम है। इसका एक सूट नहीं बन सकता।"

    वह दूसरे दर्जी के पास चला गया। उसने नाप लेने के बाद कहा, "आप दस दिन बाद सूट ले जाइए।"

    वह निश्चित समय पर दर्जी के पास गया। सूट तैयार था। अभी सिलाई के पैसे दे रहा था कि दुकान में दर्जी का पांच साल का लड़का प्रविष्ट हुआ। उस व्यक्ति ने देखा कि लड़के ने बिल्कुल उसी कपड़े का सूट पहन रखा है। थोड़ी सी बहस के बाद दर्जी ने बात स्वीकार कर लिया।

    वह व्यक्ति पहले दर्जी के पास गया और फुंकारते हुए कहा, "तुम तो कहते थे कि कपड़ा कम है, पर तुम्हारे साथ वाले दर्जी ने उसी कपड़े से न केवल मेरा, बल्कि अपने लड़के का भी सूट बना लिया।"

    दर्जी धीरज से उल्टा रहा, फिर कुछ सोचते हुए बोला, लड़के की उम्र क्या है?

    आदमी: "पाँच वर्ष।"

    दर्जी चहककर बोला, "मैं अब जान सका कारण क्या है? श्रीमान मेरे लड़के की उम्र 18 वर्ष है।"
  • हिसाब बराबर!

    एक बार एक मरता हुआ पति अपनी पत्नी से अपराध स्वीकारोक्ति करते हुए बोला।

    पति: प्रिये, दो साल पहले अलमारी से तुम्हारा गोल्ड सेट मैंने ही चोरी किया था।

    पत्नी (रोते हुए): कोई बात नहीं जी।

    पति: एक साल पहले तेरे भाई ने तुझे जो 1 लाख रूपए दिए थे वो भी मैंने ही गायब किये थे।

    पत्नी: कोई बात नहीं मैंने आपको माफ़ किया।

    पति: तेरी कमेटी के पैसे भी मैंने ही चोरी किये थे।

    पत्नी: कोई बात नहीं जी, आपको ज़हर भी मैंने ही दिया है इसलिए हिसाब बराबर।