• मोदी और जनता!

    चुनाव से पहले:
    मोदी : यस, अब सही समय आ गया है
    जनता : क्या आप विदेश यात्राओं पर जाओगे?
    मोदी : नहीं
    जनता : हमारे लिए काम करोगे?
    मोदी : हाँ , बहुत
    जनता : महगांई बढ़ाओगे?
    मोदी : इसके बारे में तो सोचो भी मत
    जनता : आप हमे जॉब दिलाने में मदद करोगे?
    मोदी : हां, जहाँ कहाँ कर सकता हूँ, वहाँ वहाँ करूंगा
    जनता : क्या आप अडानी अम्बानी के लिए काम करोगे?
    मोदी : पागल हो गए हो क्या? बिलकुल नहीं
    जनता : क्या हम आप पर भरोसा कर सकते है?
    मोदी : यस.
    जनता : नमो नमो
    चुनाव के बाद : अब नीचे से ऊपर पढ़ो
  • नारी शक्ति!

    एक औरत ख़रीदारी करने शॉपिंग मॉल मैं गई कैश काउंटर पर पेमेंट करने के लिए उसने पर्स खोला तो दुकानदार ने महिला के पर्स में टीवी का रिमोट देखा, दुकानदार से रहा नहीं गया उसने पूछा, "आप टीवी का रिमोट हमेशा अपने साथ लेकर चलती हैं?"

    औरत: नहीं, हमेशा नहीं, लेकिन आज मेरे पति ने खरीदारी के लिए मेरे साथ आने से मना कर दिया था।

    दुकानदार हंसते हुए बोला, "मैं सभी सामान वापस रख लेता हूँ आप के पति ने आपका क्रेडिट कार्ड ब्लॉक कर दिया हैं।

    शिक्षा: अपने पति के शौक का सम्मान करें।

    कहानी अभी भी जारी है;

    महिला थोड़ी हँसी फिर अपने पर्स से अपने पति का क्रेडिट कार्ड निकला और सभी बिल की पेमेंट कर दी। पति ने पत्नी का कार्ड ब्लॉक कर दिया था पर अपना कार्ड नहीं।

    शिक्षा: एक नारी की शक्ति को कभी कम नहीं समझना चाहिए।
  • उम्र का चक्र!

    एक औरत और उसका बेटा बस स्टॉप पर खड़े बस का इंतज़ार कर रहे थे तो औरत अपने बेटे से बोली," बेटा अगर बस में कंडक्टर तुमसे तुम्हारी उम्र पूछे तो कहना कि तुम पांच साल के हो। इससे तुम्हारा किराया माफ़ हो जाएगा और तुम बस में मुफ्त सफ़र कर सकोगे।"

    थोड़ी देर बाद जब बस आई और वो दोनों जब बस में चढ़े तो कंडक्टर ने बच्चे से उसकी उम्र पूछी।

    यह सुन बच्चा बड़े ही गर्व से बोला, "मैं 5 साल का हूँ।"

    क्योंकि कंडक्टर का भी उतनी ही उम्र का एक बेटा था तो कंडक्टर भी मुस्कुरा कर बोला, "और आप 6 साल के कब हो जाओगे?"

    बच्चा बड़ी मासूमियत से बोला, "जैसे ही मैं इस बस से उतरूंगा।"
  • बुरे फंसे यार!

    आज तो कमाल ही हो गयी। सुबह-सुबह श्रीमती जी नाश्ता बना रही थी, इतने में किसी ने दरवाजा खटखटाया। श्रीमती जी ने दरवाज़ा खोला तो एक सेल्समैन दनदना के अंदर पहुँचा और पूरे कालीन पर गोबर गिरा दिया।

    श्रीमती जी गुस्से में चिल्लाते हुए, "अरे, यह क्या कर दिया। अभी तो सफाई की है और आप हो कौन?"

    सेल्समैन: मैडम मैं एक सेल्समैन हूँ, आपको यह वैक्यूम क्लीनर का कमाल दिखाने आया हूँ।

    श्रीमती जी: वैक्यूम क्लीनर का कमाल दिखाना है तो यह सारी गंदगी क्यों फैला दी?

    सेल्समैन: मैडम तभी तो इसका कमाल दिखेगा।

    सेल्समैन: क्योंकि अभी 2 मिनट में देखना यह सारी गंदगी साफ़ हो जाएगी और अगर ऐसा नहीं हुआ तो मैं खुद अपनी जीभ से चाट कर इसे साफ़ करूँगा।

    श्रीमती जी ने सेल्समैन की तरफ घूर कर देखा और बोली, "जीभ से मत चाटना ऐसे ही हाथ से उठा कर खाना शुरू कर दो।"

    सेल्समैन: आप ऐसा क्यों बोल रही हैं मैडम।

    श्रीमती जी: क्योंकि घर में बिजली नहीं है। अब हो जाओ शुरू।

    शिक्षा: कुछ भी करने से पहले पूरी जानकारी इकठी कर ले ताकि बाद में पछताना ना पड़े।