• उदास क्यों हो?

    संता और बंता कई दिनों बाद मिले संता कुछ उदास सा लग रहा था और आँखों में आंसू थे।

    बंता ने पूछा, "अरे तुम तो ऐसे लग रहे हो जैसे तुम्हारा सुब कुछ लुट गया हो क्या बात है?"

    संता ने कहा, "अरे क्या बताऊँ तीन हफ्ते पहले मेरे अंकल गुजर गए और मेरे लिए 50 लाख रूपए छोड़ गए।"

    बंता: तो इसमें बुरी बात क्या है?

    संता ने कहा: और सुनो दो हफ्ते पहले मेरा एक चचेरा भाई मर गया जिसे मैं जानता भी नहीं था वो मेरे लिए 20 लाख रूपए छोड़ गया।

    बंता ने कहा: ये तो अच्छा हुआ।

    बंता ने कहा: पिछले हफ्ते मेरे दादाजी नहीं रहे और वो मेरे लिए पूरा 1 करोड़ छोड़ गए।

    बंता ने कहा: ये तो और भी अच्छी बात है पर तुम इतना उदास क्यों हो?

    संता ने कहा: इस हफ्ते कोई भी नहीं मरा।
  • टीचर के सवाल पप्पू के जवाब!

    टीचर: टीपू सुल्‍तान की मृत्‍यु किस युद्ध में हुई थी?
    पप्पू: उनके आखिरी युद्ध में।

    टीचर: गंगा किस स्‍टेट में बहती है?
    पप्पू: लिक्विड स्‍टेट में।

    टीचर: महात्‍मा गांधी का जन्‍म कब हुआ था?
    पप्पू: उनके जन्‍मदिन के दिन।

    टीचर: 15 अगस्‍त को क्‍या होता है?
    पप्पू: 15 अगस्‍त।

    टीचर: 6 लोगों के बीच 8 आम कैसे बांटे?
    पप्पू: मैंगो शेक बनाकर।
  • यूपी की शादी!

    लड़की देखे जाने पर लडका और लडकी में बात करने का तरीका देखते है। शायद आपको यूपी की भाषा पसंद आये!

    पप्पी: कित्ते तक पड़ी हो?
    अंजू: 8वीं तक।
    पप्पी: फिर काहे नाय पड़ी?
    अंजू: स्कूल दूर हतो तो हमारी पढ़ाई छुड़ाय दई गयी।
    पप्पी: अच्छा, रोटी बनाय लेत हौ का?
    अंजू: हाँ, बनाय लेत हैं।
    पप्पी: और सब्जी?
    अंजू: हाँ, सब्जीऔ बनाय लेत हैं।
    पप्पी: काय काय की बना लेत हौ?
    अंजू: आलू की मेथी की पालक की गोभी की भिन्डी की सबहि तराह की।
    पप्पी: कदुआ की नाय बनाय पाती हौ का?
    अंजू: हाँ, बनाय लेत हैं।
    पप्पी: कैसी बनात हो गीली का सूखी?
    अंजू: मुआ, करमजला, दारीजार, कन्नास नासपीटा नाय तो तैँ लौड़िया देखन आओ है कि काम बाली बाई देखन आओ है। धुँआ लगे इत्ती देर से दिमाग चाटन में लगो है जौ बना लेत वौ बना लेत। 1 चप्पल दिएँ अभई उतार के मुँह सूजी यइये अभई हाल। बड़ो आओ कदुआ खान वारो।
  • जैकेट का खेल!

    एक दिन एक औरत अपने प्रेमी के साथ घर में थी कि अचानक से उसके पति ने बाहर आवाज़ लगा दी। औरत ने अपने प्रेमी को जल्दी जल्दी अलमारी में छिपा दिया।

    पति घर में दाखिल हुआ और पूछा, "क्या हुआ, दरवाज़ा खोलने में इतना समय क्यों लगा दिया?"

    औरत ने घबराते हुए जवाब दिया, "नहीं वो मैं अलमारी में कपडे रख रही थी।"

    थोड़ी देर बाद औरत ने पति कहा,"चलो खाना खा लेते हैं।"

    जब वे खाना खा रहे थे तो पति को अलमारी में कोई आवाज सुनाई दी, तो उस ने अपनी पत्नी से पूछा,"ये क्या है डार्लिंग?"

    औरत: कुछ नही जैकेट होगी।

    कुछ समय बाद फिर उसे वही आवाज सुनाई दी, पति ने फिर चिढ़कर कहा, "अरे ये फिर से आवाज हुई?"

    औरत: कुछ नही जैकेट है।

    थोड़ी देर बाद पति को फिर वही आवाज सुनाई दी, तो वो गुस्से में उठकर बोला, "मैं ही देखता हूँ ये क्या है और अगर ये जैकेट नही हुई न तो तुम्हें बहुत पछताना पड़ेगा।"

    औरत पूरी तरह से घबरा गयी।

    पति ने जैसे ही अलमारी का दरवाजा खोला तो एक आदमी उसकी ओर पिस्तौल ताने खड़ा था। पति ने चुपचाप अलमारी का दरवाजा बंद किया और बोला, "अरे डार्लिंग सच में जैकेट ही है।"