• संता पहली बार चंडीगढ़ में!

    संता पहली बार चण्डीगढ़ गया, वह रॉक गार्डन देखने जाना चाहता था!

    पर उसे पता नहीं था की वहां कैसे पहुंचा जा सकता है! तभी उसे पुलिस वाले की गाड़ी दिखी उसने पुलिस वाले से पूछा सर क्या आप मुझे बता सकते हैं की मैं रॉक गार्डन कैसे जा सकता हूँ?

    पुलिस वाले ने कहा तुम इस बस स्टॉप पर 46 नम्बर की बस लेना वो सीधी तुम्हें वहीँ ले जाएगी!

    उसने पुलिस वाले को धन्यवाद कहा और पुलिसवाला अपनी गाड़ी में आगे निकल गया, तीन घंटे बाद जब पुलिस वाला उसी जगह से वापिस आ रहा था तो उसने देखा संता अभी भी वहीँ पर बस का इंतजार कर रहा है!

    पुलिस वाला अपनी गाड़ी से बाहर आया और संता से पूछने लगा क्या तुम अभी तक रॉक गार्डन नहीं गए?

    मैंने तुम्हें कहा था कि यहाँ से 46 नंबर की बस ले लेना पर तुम अभी तक यहीं हो?

    चिंता न करे सर 46 अब ज्यादा दूर नहीं है, ये अभी 43वीं बस थी जो चली गयी!
  • संता की किस्मत!

    एक रात को संता अपने बेटे को गुड नाईट बोलने के लिए गया उसने देखा उसका लड़का बहुत घबराया हुआ है, उसने कोई बुरा सपना देखा था जिससे वो काफी घबरा गया था, संता ने उसे उठाया और पूछा की क्या वो ठीक है? बच्चे ने कहा की उसे बहुत डर लग रहा है, क्योंकि उसने सपने में देखा की उसकी आंटी मर गयी है, संता ने उसे विश्वास दिलाया की उसकी आंटी बिलकुल ठीक है, और आराम से सो जाएँ!

    अगले दिन पता चला की आंटी मर गयी! कुछ दिनों के बाद संता फिर से अपने बेटे को गुड नाईट बोलने के लिए गया, उसने देखा उसका बेटा फिर से घबराया हुआ था! संता ने फिर से अपने बेटे को जगाया और पूछा की सब कुछ ठीक है, बच्चे ने उस वक़्त कहा की उसने सपने में देखा की उसकी दादी मर गयी हैं, संता ने फिर से बच्चे को बताया की दादीजी ठीक है, आराम से सो जाओ!

    अगले दिन सच में ही दादी मर गयी! संता एक हफ्ते के बाद फिर से बेटे को गुडनाईट बोलने के लिए गया तो देखा की बच्चा बहुत डरा हुआ है, संता ने पूछा क्या हुआ तो बच्चे ने कहा मैंने सपने में देखा की डैडी मर गए है,संता ने फिर से विश्वास दिलाया की वो ठीक है और उसे आराम से सोने के लिए कहा!

    संता अपने बिस्तर पर गया, लेकिन उसे नींद नहीं आयी वो बहुत घबरा गया था, अगले दिन संता अपने आप को बचाने लगा उसे पूरा विश्वास था की वो मर जाएगा, ऑफिस जाते हुए उसने गाड़ी बहुत सावधानी से चलायी,वो, सारे काम बड़ी सावधानी से कर रहा था डर के मारे उसने लंच भी नहीं किया, कहीं पेट ख़राब होने से वो मर न जाये, उसने दिन भर न कुछ खाया न पिया उसे डर था वो किसी तरह भी मर सकता है, वो जरा सा भी शोर सुनकर डर जाता टेबल के नीचे छिप जाता पूरा दिन वो ऐसे ही डरता रहा!

    शाम को जब वापिस आया तो दरवाजे पर उसकी बीवी जीतो खड़ी थी, उसने आते ही कहा, मैं तुम्हें बता नहीं सकता कि आज का दिन मेरे लिए कितना बुरा था!

    जीतो ने जवाब दिया, तुम्हें लगता है तुम्हारा दिन बुरा था? या मेरा? तुम्हें पता है, आज सुबह यहाँ पहली सीढ़ी से फिसल कर दूधवाला मर गया!
  • संता और उसके दोस्त!

    एक बार संता और बंता अपने दोस्तों मोन्टी और जग्गी के साथ घुमने चले गए, एक जगह उनकी गाड़ी घने जंगलों में से होकर गुजर रही थी तभी उन्हें डाकुओं ने उन पर हमला कर लिया उन्होंने संता और बंता को गाड़ी से बाहर निकाला और उनकी गाड़ी को बम से उड़ा दिया और संता, बंता और उसके दोस्तों को जंगल के बीच में ले आये जहाँ उनका सरदार रहता था!

    उनका सरदार चुटकुले सुनने का बड़ा शौक़ीन था, तब उसने एक शर्त रखी कि जो उसे ऐसा चुटकुला सुनाएगा, जिसको सुनकर सभी हँसे तो उसे बिना किसी हानि पहुंचाए जिन्दा छोड़ दिया जाएगा अगर ऐसा नहीं हुआ, अगर एक भी आदमी नहीं हंसा तो उस चुटकुले सुनाने वाले को गोली से उड़ाकर मार दिया जायेगा!

    सबसे पहले बंता ने एक चुटकुला सुनाया एक बार ... और जब उसने चुटकुला पूरा सुना दिया, तो संता को छोड़कर सभी जोर जोर से हंसने लगे तो शर्त के अनुसार सरदार ने बेचारे बंता को गोली से उड़ा दिया!

    अब मोन्टी कि बारी थी उसने भी एक जोरदार चुटकुला सुनाया फिर से सभी संता को छोड़ कर सरदार के साथ जोर-जोर से हंसने लगे सरदार ने संता पर गोली चला दी!

    उसके बाद जग्गी कि बारी आयी जैसे ही उसने चुटकुला सुनाना शुरू किया तो, संता जोर-जोर से हंसने लगा सभी लोग हैरान हो गए कि ये पागलों कि तरह क्यों हंसने लगा?

    सरदार उससे पूछने लगा, तुम बिना चुटकुला सुने ही क्यों हंसने लगे?

    संता ने हँसते और लोट-पोट होते हुए कहा कि बंता ने कितना मस्त चुटकुला सुनाया था!
  • दूसरा अफेयर!

    बंता: मेरे वैवाहिक जीवन से सारा रोमांच चला गया है!

    संता: तुम घर से बाहर कोई नया अफेयर क्यों नहीं चला लेते?

    बंता: पर अगर मेरी बीवी को पता चल गया?

    संता: अरे हम नए ज़माने में रहे हैं जाओ और उसे सब कुछ साफ़ साफ़ बता दो!

    बंता: अपने घर गया और बीवी से कहने लगा प्रीतो, मुझे लगता है के एक अफेयर हमें पास लाने में मदद करेगा!

    प्रीतो: भूल जाओ इस बात को, मैंने पहले ही ये कोशिश कर ली है, पर कोई फर्क नहीं पड़ा!