• लग गयी लॉटरी!

    एक दिन एक मरीज़ बहुत जल्दी में एक डॉक्टर के पास आया।

    मरीज: डॉक्टर साहब, जल्दी कुछ करो, मेरे पैरों पर एक औरत ने गाड़ी चढा दी।

    डॉक्टर ने अच्छे से सब कुछ चेक किया और पाया कि मामूली चोट है पर मरीज बहुत घबराया हुआ है।

    डॉक्टर: ओ हो, भाई अॉपरेशन करना पडेगा, बहुत खर्चा आयेगा तैयार हो?

    मरीज: कुछ भी करो जल्दी करो। कमीनी ने मरा सोच कर उठाया भी नही।

    इतने में ही डॉक्टर की पत्नी का फोन आया।

    डॉक्टर: हैलो।

    पत्नी: हैलो छोड़ो, ये बताओ मैं क्या करूं? मुझसे कार चलाते वक़्त एक आदमी मर गया, जै हिंद चौक पर।

    डॉक्टर थोड़ी देर खामोश रहा फिर उसने पूछा, "आदमी ने कपड़े कैसे पहन रखे थे?"

    पत्नी: हरी टी शर्ट और काली पैंट।

    डॉक्टर: ओ तो उसे तुमने मारा है। पुलिस खूनी को तलाश करती हुई घूम रही है।

    पत्नी(घबराते हुए): हे भगवान, तो अब मैं क्या करूं?

    डॉक्टर: करना क्या है, 4-6 महीने के लिए मायके भाग जा जल्दी।

    पत्नी: ठीक है मैं अभी जा रही हूँ।

    मरीज: डॉ साहब करो ना कुछ।

    डॉक्टर: अरे भाई कोई गोली नही लग गई तुम्हें, ये ले रूपये और चार बियर ले आ, दोनो पियेंगे, और हाँ ये हरी टी शर्ट निकाल के जा।
  • पति पर निबंध!

    पति एक घरेलू प्राणी है , यह सभी घरों में अनिवार्य रूप से पाया जाता है।

    इस घरेलू प्राणी को पालने का पूरा अधिकार पत्नी पद से सम्मानित महिला को प्राप्त होता है।

    1. इसकी दो आंखे होती है जिससे यह मूक रहकर मात्र देखता है।

    2. इसके दो कान होते है जिससे पत्नी कि डांट फटकार सुनता है।

    3. इसका एक मुख होता है जिसके खुलने पर पूर्णतः पाबंदी होती है।

    4. इसकी इकलौती कटी नाक में अदृश्य नकेल होती है।

    5. यह काफी कुछ मनुष्य से मिलता जुलता प्राणी होता है।

    6. वैसे पति होने से पूर्व यह मनुष्य कि श्रेणी में होता है। पति के प्रकार:

    जोरू का गुलाम: यह प्रजाति हमारे देश में बहुतायत रूप से पायी जाती है। इस प्रजाति के पति टिकाऊ, मेहनती, सीधे व वफादार होते है। यह उम्दा नस्ल के होते है। डांट, मार, गालियाँ इन पर प्रभावहीन होती हैं। पालने के लिए यह पति सबसे अच्छे होते हैं।

    जोरू का बादशाह: यह प्रजाति धीरे धीरे लुप्त होती जा रही है। इसलिए सरकार जल्द ही इनके संरक्षण के लिए "बादशाह पति संरक्षण" नामक अभियान चलाने जा रही है।
  • बिका हुआ माल वापस नहीं होगा!

    बीवी शौहर से लड़ रही थी। शौहर ने तंग आकर अपनी सास को मैसेज किया,
    "आप की प्रॉडक्ट मेरे मुताबिक नहीं है और मैं इसे लौटा कर आप से एक्सचेंज की डिमांड करता हूँ।"

    थोड़ी देर बाद सास का जवाब आया,
    "वारंटी खत्म हो चुकी है, रिफंड या एक्सचेंज की ऐसी कोई पॉलिसी नहीं है। प्रॉडक्ट की परफॉरमेंस बेहतर करने के लिए बालों से पकड़ कर दिन में दो दफा धुलाई करें। अब वैसे भी कंपनी ने नया प्रॉडक्ट बनाना बंद कर दिया है।"
  • आदमी तो आदमी ही हैं!

    एक व्यक्ति मरकर ऊपर पहुँचा तो स्वर्ग के द्वार पर उसे स्वयं चित्रगुप्त मिले।

    चित्रगुप्त बोले, "तुम एक शर्त पर भीतर आ सकते हो।"

    व्यक्ति: कौन सी शर्त प्रभु?

    चित्रगुप्त: तुम्हें एक शब्द जो कि फिरंगी जुबान का है, की स्पैलिंग ठीक-ठीक बतानी होगी।

    व्यक्ति: कौन सा शब्द है प्रभु?

    चित्रगुप्त: 'लव'।

    व्यक्ति: एल-ओ-वी-ई।

    चित्रगुप्त: बहुत अच्छा, तुम भीतर आ सकते हो।

    वो व्यक्ति भीतर दाखिल हो रहा था तभी चित्रगुप्त का मोबाइल बज उठा।

    चित्रगुप्त: हमें भगवान् बुला रहे है, तुम एक मिनट द्वार पर निगाह रखना हम अभी लौट के आते हैं।

    व्यक्ति: जो आज्ञा प्रभु।

    चित्रगुप्त: हमारी अनुपस्थिति में अगर कोई और प्राणी यहाँ पहुँच जाए तो उसको प्रवेश देने से पहले उससे भी 'लव' शब्द की स्पैलिंग जरुर पूछना, अगर वो भी तुम्हारी तरह स्पैलिंग ठीक बताये तो ही उसे भीतर आने देना। नहीं तो उसे सामने के द्वार से नर्क भेज देना।

    व्यक्ति: ठीक है।

    इतना कह कर चित्रगुप्त चले गए और वो व्यक्ति द्वार पर पहरा देने लगा। तभी एक स्त्री वहाँ पहुँची। वो व्यक्ति ये देखकर बहुत हैरान हुआ कि वो उसकी बीवी थी।

    वो बोला, "अरे, तुम यहाँ कैसे पहुँच गयी?"

    बीवी: तुम्हारे अंतिम संस्कार के बाद जब मैं श्मशान घाट से लौट रही थी तब बस ने मुझे कुचल दिया, उसके बाद जब मुझे होश आया तो मैं यहाँ खड़ी थी। अब हटो मुझे भीतर आने दो।

    व्यक्ति: ऐसे नहीं, भगवान के यहाँ के नियम के अनुसार पहले तुम्हें एक शब्द की स्पैलिंग ठीक-ठीक बतानी होगी, तभी तुम यहाँ अन्दर आ सकती हो। नहीं तो तुम्हें सामने के द्वार से नर्क जाना होगा।

    बीवी: कौन सा शब्द?
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    व्यक्ति: 'चेकोस्लोवाकिया'।