• कहाँ पकड़ें?

    एक M.R.(Medical Representative) एक डॉक्टर की बेटी से प्यार करता था। एक दिन हिम्मत करके उसने डॉक्टर से उसकी बेटी का हाथ माँगा पर डॉक्टर ने इनकार कर दिया।

    कुछ दिनों बाद डॉक्टर ने अपनी बेटी की शादी एक डॉक्टर लड़के से करवा दी। परन्तु शादी के कुछ ही दिनों बाद वह डॉक्टर लड़का मर गया।

    M.R. ने फिर डॉक्टर के सामने उसकी लड़की से शादी का प्रस्ताव रखा लेकिन डॉक्टर ने फिर मना कर दिया।

    कुछ महीनों बाद डॉक्टर ने अपनी बेटी की शादी एक इंजीनियर से करवा दी लेकिन कुछ दिनों बाद इंजीनियर भी मर गया।

    M. R. ने फिर शादी की इच्छा प्रकट की लेकिन डॉक्टर नहीं माना।

    फिर डॉक्टर ने अपनी बेटी की शादी एक टीचर से करवा दी लेकिन कुछ दिनों में वह भी भगवान को प्यारा हो गया।

    अंत में डॉक्टर ने खिसियाकर अपनी बेटी की शादी उसी M. R. से करवा दी।

    महीना गुजर गया, छह महीने गुजर गए, धीरे धीरे साल भी गुजर गया लेकिन M. R. नहीं मरा।

    इसी इंतज़ार में एक दिन डॉक्टर साहब खुद ही गुजर गए और यमराज के पास पहुंचे। जाते ही उन्होंने यमराज से पूछा, `आपने मुझसे मेरे तीन दामादों को छीन लिया लेकिन यह M. R. क्यों नहीं मरा ?`

    यमराज गुस्से से बोले, `तो हम क्या करें ? वह जहाँ की कहकर जाता है वहाँ मिलता ही नहीं है। TP (Tour Program) में लिखा होता है सिवनी जा रहा हूँ, पर जाता है बालाघाट ! TP में लिखा होता है भोपाल, पर जाता है जबलपुर ! हम तो अब तक यही सोच रहे हैं कि इसे पकड़ें तो कहाँ पकड़ें ?"
  • शादी में WhatsApp ग्रुप!

    आज-कल जिनके घर शादी होती है वो भी अलग WhatsApp ग्रुप बनाने लगे हैं और इन ग्रुप में होती हैं कुछ मज़ेदार बातें! आइये जानें क्या - क्या होता है।

    चाय बन गयी है, सब आ जाओ।

    फेरे चालू हो गए, जल्दी पहुँचों।

    मौसा जी आप कहाँ हो मंडप में पहुंचो।

    मामा जी, दूल्हे का कोट कहाँ है?

    और इसी बीच फूफा जी ने ग्रुप छोड़ दिया।

    क्योंकि उनको किसी ने अभी तक पूछा ही नहीं है।
  • नशा करना बुरी बात है!

    एक चीता सिगरेट का कश लगाने ही वाला था कि अचानक चूहा वहाँ आया और बोला, "भाई छोड़ दो नशा, आओ मेरे साथ, देखो जंगल कितना खूबसूरत है।"

    चीता चूहे के साथ चल दिया।

    आगे हाथी कोकीन ले रहा था, चूहा फिर बोला, "भाई छोड़ दो नशा, आओ मेरे साथ, देखो जंगल कितना खूबसूरत है।"

    हाथी भी साथ चल दिया।

    आगे शेर व्हिस्की पीने की तैयारी कर रहा था, चूहे ने उसे भी वही कहा।

    शेर ने ग्लास साइड पर रखा और चूहे को 5-6 थप्पड़ मारे।

    हाथी बोला: अरे क्यों मार रहे हो इस बेचारे को?

    शेर बोला, "ये साला रोज़ अफ़ीम पीके ऐसे ही सबको पूरी रात जंगल घुमाता है।"
  • सही विश्लेषण!

    एक बार कक्षा में गुरु जी पढ़ा रहे थे तो उन्होंने बच्चों से एक विचित्र प्रश्न पूछा।

    गुरूजी: बच्चो बताओ घर-बार किसे कहते हैं और एक पति के जीवन में इसके महत्व की विवेचना कीजिये।

    सभी बच्चे चुप हो गए। किसी को कोई उत्तर ना सूझा।

    गुरु जी: क्या हुआ, क्या इस कक्षा में ऐसा कोई नहीं है जो इसका उत्तर दे सके।

    तभी अचानक एक छात्र ने अपना हाथ ऊपर किया।

    गुरु जी: हाँ बेटा बताओ क्या कहना चाहते हो?

    छात्र: गुरु जी घर-बार का एक पति के जीवन में बड़ा महत्तव है। घर में पत्नी द्वारा उत्पन्न किये गए तनाव से मुक्त होने हेतु पति घर से बार में चला जाता है और बार में ज्यादा चढ़ जाने पर बार से घर आ जाता है। घर और बार के इस चक्र को ही घर-बार कहते हैं।

    गुरु जी ने छात्र का नाम राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए भेज दिया है और खुद सुबह से बार में बैठे हैं।