• औरतों की विचित्र सच्चाई!

    1. वे बचत में विश्वाश करती हैं लेकिन फिर भी महंगे महंगे कपडे खरीदती हैं।

    2. महंगे महंगे कपडे खरीदती है, फिर भी कहती रहती हैं कि मेरे पास पहनने को कुछ भी नहीं है।

    3. पहनने को कुछ भी नहीं होता है,पर सजती बहुत सुन्दर हैं।

    4. सजती बहुत सुन्दर हैं, पर सन्तुष्ट कभी नहीं होती।

    5. सन्तुष्ट कभी नहीं होती, पर हमेशा चाहती हैं कि उनका पति उनकी तारीफ़ करे।

    6. चाहती हैं कि उनका पति उनकी तारीफ़ करे, पर पति सच में भी तारीफ़ करे तो वे विश्वाश नहीं करती।

    सचमुच समझ से बाहर हैं ये औरतें।
  • आलसीपन!

    पति-पत्नी दोनों अव्वल दर्जे के आलसी थे। एक रात जब दोनों बिस्तर पर लेट गए तो कुछ शोर सा सुन कर पति बोला, "ज़रा देखो तो, बाहर बारिश हो रही है क्या?"

    पत्नी लेटे-लेटे ही बोली, "हो रही है।"

    पति: बिना देखे तुमने कैसे जान लिया?

    पत्नी: अभी जो बिल्ली अन्दर आई थी वो भीगी हुई थी इसका मतलब बारिश हो रही है।

    पांच मिनट बाद पति फिर बोला, "ज़रा लाइट तो बंद कर दो... रौशनी में नींद नहीं आ रही है।"

    पत्नी: कम्बल ओढ़ लो... अपने आप अँधेरा हो जाएगा।

    पति झल्लाते हुए बोला, "ठीक है कम से कम दरवाजा तो बंद कर लो।"

    पत्नी चिल्ला कर बोली, "अब दो काम मैंने कर दिए, एक काम आप खुद नहीं कर सकते क्या?"
  • प्रेम पत्र!

    एक सुन्दर युवती दवाईयों की एक दुकान के सामने काफी देर तक खडी थी। भीड़ छटने का इंतज़ार कर रही थी। दुकान का मालिक उसे शक की नजर से घूर रहा था।

    बहुत देर बाद जब दुकान मे कोई ग्राहक नही बचा, तो वह लड़की दुकान मे आयी।

    एक सेल्समन को धीरे से एक किनारे बुलाया।

    दुकान मालिक अब और भी ज्यादा चौकन्ना हो गया।

    लड़की ने धीरे से एक कागज़ सेल्समन की ओर बढाया और धीरे से फुसफुसायी,

    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    "भैया, मेरी एक डॉक्टर के साथ शादी तय हो गयी है। आज उनकी पहली चिठ्ठी आयी है। थोडा पढ़कर सुनायेंगे क्या?
  • दामाद और ससुराल दौरा!

    सभी माननीय दामादों की ससुराल दौरे से जुड़ी आवश्यक जानकारी जनहित में जारी

    पहली बार:
    पूरी, 2 सब्ज़ी, चिकन या मटन ( दामाद जी की इच्छानुसार ), फिश फ्राई, रायता,सलाद, मिठाई और अंत में जबरदस्ती दो मिठाई।

    दूसरी बार:
    पूरी, 1 सब्ज़ी, चिकन ( बिना दामाद जी को पूछे),गोभी फ्राई, सलाद, मिठाई

    तीसरी बार:
    पराठा-सब्ज़ी, भिंडी फ्राई, प्याज-टमाटर काट कर और हलवा

    चौथी बार:
    पराठा-आलू का भुजिया सब्ज़ी, प्याज-टमाटर काट कर, और खाना परोसते हुए पूछा जाएगा कि चिकन बनाएँ क्या?

    पांचवी बार
    जल्दी मे लगते हैं, खाना भी खायेंगे क्या?

    छठी बार:
    अरे बाद में बैठिये पहले मुन्नू को स्कूल छोड़ आएये और लौटते समय सब्ज़ी लेते आना फिर खाना बनेगा।