• लँगड़ाने का राज़

    हड्डियों के विशेषज्ञ दो डॉक्टर सुबह-सुबह घूमने निकले।

    आगे एक आदमी लंगड़ाता हुआ जा रहा था।

    एक डॉक्टर बोला, "लगता है इसकी टखने की हड्डी टूटी हुई है।"

    दूसरा डॉक्टर बोला, "नहीं यार, घुटने की हड्डी टूटी है।"

    दोनों में बहस होने लगी। आखिर तय हुआ कि उसी व्यक्ति से पूछा जाए।

    उसके पास जाकर एक डॉक्टर ने पूछा, "भाईसाहब, आपकी घुटने की हड्डी टूटी है या टखने की?"

    आदमी ने गौर से डॉक्टर को देखा और बोला, "मेरी न तो घुटने की हड्डी टूटी है और न ही टखने की, मेरी तो बस चप्पल टूट गयी है।"