• कहानी दस्तानो के बनने की!

    एक बार एक डॉक्टर के पास एक लड़की आई। वो बहुत घबराई हुई थी। डॉक्टर ने सोचा चलो इसे एक चुटकुला सुना देता हूँ ताकि इसकी थोड़ी घबराहट कम हो जाये।

    डॉक्टर ने अपने हाथों पर रबर के दस्ताने पहने और लड़की से पूछा, "क्या तुम्हें पता है यह कैसे बनते हैं?"

    लड़की: नहीं, मुझे नहीं पता।

    डॉक्टर: जिस फैक्ट्री में यह बनते हैं वहाँ एक बहुत बड़ा टैंक है जिसमे बहुत सी रबर जमा की हुई है और जो कारीगर हैं वो वहाँ आते हैं और अपने हाथ उस टैंक में डाल देते हैं, फिर उन्हें सुखा लेते हैं और सूखने के बाद हाथों से इन्हे उतार कर अलग-अलग साइज के हिसाब से डिब्बों में पैक कर देते हैं।

    यह सुन कर लड़की को कोई हंसी नहीं आयी। डॉक्टर ने सोचा चलो मैंने कोशिश तो की और वो अपने काम में जुट गया।

    थोड़ी देर बाद जब डॉक्टर बड़े ध्यान से लड़की की जाँच कर रहा था तो लड़की एक दम से ज़ोर-ज़ोर से हँसने लगी।

    डॉक्टर: क्या हुआ?

    लड़की: मैं बस यह सोच रही थी कि 'कंडोम' कैसे बनते होंगे!
  • अक्ल बड़ी या भैंस!

    एक बार एक डॉक्टर एक जंगल में आदमियों के एक कबीले में गया।

    डॉक्टर: तुम सब लोग यहाँ पर अपनी सेक्स की जरूरतों को कैसे पूरा करते हो?

    कबीले वाले: आप कल नदी पर आना तो आपको पता चल जायेगा।

    अगले दिन डॉक्टर नदी पर गया तो उसने देखा कि वहाँ एक गधा खड़ा हुआ था। एक आदमी बोला, "आप हमारे मेहमान हैं, पहले आप आईये।"

    डॉक्टर को कुछ अटपटा लगा पर उसने गधे को चूमना शुरू कर दिया और उसके साथ सेक्स कर लिया। तभी एक आदमी बोला, "अगर आपका हो गया हो तो क्या अब हम गधे पर बैठ कर नदी पार औरतों के कबीले में जा सकते हैं?"
  • आदमी कभी नहीं सुधर सकते!

    एक मिस्त्री डॉक्टर के पास अपनी चोट दिखाने आया।

    डॉक्टर: चोट कैसे लग गई?

    मिस्त्री: जी मैं एक इमारत पर सीढ़ी लगाकर मुरम्मत कर रहा था। सामने वाली इमारत में एक सुंदर सी लड़की नहा रही थी कि अचानक सीढ़ी गिर पड़ी और मुझे चोट लग गई।

    डॉक्टर: हाय, सीढ़ी को भी उसी समय गिरना था।

    मिस्त्री: जनाब! अगर एक सीढ़ी पर दस आदमी चढ़े होंगे तो सीढ़ी गिरेगी नहीं तो क्या होगा!
  • बुढ़ापे की परेशानियां!

    एक बार एक मरीज़ डॉक्टर के पास आया और बोला, "डॉक्टर साहब, मैं बहुत परेशान हूँ।"

    डॉक्टर: क्यों क्या परेशानी है बताओ?

    मरीज़: डॉक्टर साहब पहली पर चढ़ने के बाद मैं थक जाता हूँ, दूसरी के बाद मेरी सांस फूंल जाती है, तीसरी के बाद मेरा दिल ढोल की तरह बजने लग जाता है और चौथी के बाद मुझे ठंडा पसीना छूट जाता है।

    डॉक्टर: आप की उम्र कितनी है?

    मरीज़: 70 साल।

    डॉक्टर: उम्र तो ज्यादा है, इस उम्र में तो आपको पहली पर ही रुक जाना चाहिए।

    मरीज़: पहली पर कैसे रुक सकता हूँ, मेरा घर तो चौथी मंज़िल पर है!