• शराबी दोस्त!

    दो शादीशुदा दोस्त एक रात को इकट्ठे बैठकर शराब पी रहे थे तब पहले दोस्त ने दूसरे से कहा, तुम जानते हो मुझे पता ही नहीं चलता की मैं क्या करूँ?

    जब भी मैं पीकर घर जाता हूँ तो मैं रास्ते में ही गाड़ी की हेडलाईट बन्द कर देता हूँ, मैं इंजन को बंद करके गाड़ी को गैराज में लगाता हूँ, फिर मैं घर में अंदर जाने से पहले जूते उतार देता हूँ मैं चुपके से सीढ़ियाँ चढ़ता हूँ, मैं बाथरूम जाकर अपने कपड़े बदलता हूँ, जैसे ही मैं आराम करने के लिए बिस्तर पर सोने जाता हूँ तो मेरी बीवी जाग रही होती है, और मुझे चिल्ला कर कहती है इतनी देर से आये हो बाहर चले जाओ!

    उसके दोस्त ने उसे देखा ओर उसे कहा तुमने सच में गलत तरीका अपनाया है, देखो मैं चिल्लाते हुए गाड़ी चलाता हूँ, दरवाजे को जोर से धक्का देकर खोलता हूँ, जोर जोर से चलता हूँ, अपने जूतों को अलमारी मैं फेंक देता हूँ, कपड़े उतार देता हूँ, बिस्तर पर कूद जाता हूँ, और अपनी पत्नी को पकड़ कर कहता हूँ फिर ..?? ओर वो बहाना करती है जैसे सो गयी हो!
  • नशे में सेक्स ठीक नहीं!

    दो बूढ़े शराब के नशे में टुन्न होकर एक कोठे पर सेक्स करने गए।

    कोई भी लड़की बूढ़ों से सेक्स के लिए नहीं मानी तो दलाल ने दो रबर की गुड़िया में हवा भर के बूढ़ों को दे दी और बोला, "लड़कियां नशे में हैं। अपना-अपना काम कर लो।"

    जब सुबह दोनों कोठे से बाहर निकले तो आपस में बातें कर रहे थे।

    पहला बूढा: यार लड़की नशे में नहीं थी, साली लाश थी। सारी रात खुद ही हिल-हिल कर करना पड़ा।

    दूसरा बूढा रोते हुए बोला, "मुझे तो सालों ने भूतनी दे दी। मैंने जोश-जोश में उसकी चूची काट ली तो सूं की आवाज़ के साथ तेज़ हवा आई और लड़की उड़ के खिड़की के बाहर चली गयी। सारी रात मेरी डर के मारे गांड फटी रही।"
  • महिलाओं के लिए!

    एक बार एक आदमी ने बहुत शराब पी ली उसे बहुत जोर से पेशाब आ गया।

    वह जल्दी से एक शौचालय में घुस गया और उसने इधर-उधर कोई ध्यान नही दिया और खड़े होकर पेशाब करने लगा।

    जब वह पेशाब करके हटने लगा तो उसने देखा कि वह गलती से महिला शौचालय में घुस गया है और वहां एक महिला थी।

    महिला ने आदमी से कहा, "यह महिलाओं के लिए है।"

    आदमी अपने लंड को हिलाते हुए बोला, "ये कौन सा मसाले कूटने के लिए है, ये भी महिलाओं के लिए ही है।"
  • नशे में सेक्स ठीक नहीं!

    दो बूढ़े शराब के नशे में टुन्न होकर एक कोठे पर सेक्स करने गए।

    कोई भी लड़की बूढ़ों से सेक्स के लिए नहीं मानी तो दलाल ने दो रबर की गुड़िया में हवा भर के बूढ़ों को दे दी और बोला, "लड़कियां नशे में हैं। अपना-अपना काम कर लो।"

    जब सुबह दोनों कोठे से बाहर निकले तो आपस में बातें कर रहे थे।

    पहला बूढा: यार लड़की नशे में नहीं थी, साली लाश थी। सारी रात खुद ही हिल-हिल कर करना पड़ा।

    दूसरा बूढा रोते हुए बोला, "मुझे तो सालों ने भूतनी दे दी। मैंने जोश-जोश में उसकी चूची काट ली तो सूं की आवाज़ के साथ तेज़ हवा आई और लड़की उड़ के खिड़की के बाहर चली गयी। सारी रात मेरी डर के मारे गांड फटी रही।"