• दोस्त, दोस्त ना रहा!

    एक बार संता और बंता दोनों जंगल के रास्ते जा रहे थे। तभी अचानक एक बड़ा सा सांप संता के ऊपर गिर गया। संता ने उसे झटकने की कोशिश की पर उसने संता के लंड पर काट लिया।

    दोनों बहुत घबरा गए तो बंता मदद के लिए इधर-उधर भागा पर वहां आस-पास कोई भी नहीं था। बंता ने जल्दी से डॉक्टर को फ़ोन किया और बताया कि संता को सांप ने लंड पर काट लिया है।

    डॉक्टर ने पूरी बात सुनी और बोला, "तुम्हें संता का लंड चूस कर ज़हर निकालना होगा।"

    बंता: क्या इसके अलावा और कोई रास्ता नहीं है?

    डॉक्टर: नहीं, इसके अलावा और कोई रास्ता नहीं है। तुम्हें ऐसा ही करना होगा नहीं तो संता मर जायेगा।

    बंता ने फ़ोन बंद किया और संता की तरफ देखने लगा।

    संता: क्या हुआ, क्या कहा डॉक्टर ने?

    बंता: डॉक्टर साहब कह रहे हैं कि तुम मरने वाले हो।
  • सोच अलग-अलग!

    एक बार रात को खाना खाते पप्पू ने संता से पूछा कि बूब्स कितने प्रकार के होते हैं?

    संता: बूब्स तीन प्रकार के होते हैं। 20 साल की उम्र में खरबूजे जैसे बिलकुल गोल और सख्त। 30-40 साल की उम्र में आम की तरह अच्छे पर लटके हुए और 50 साल की उम्र में प्याज़।

    पप्पू हैरानी से: प्याज़!

    संता: हाँ, प्याज़ तुम उन्हें देखते हो और वो तुम्हें रुला देते हैं।

    यह सुनकर पिंकी और जीतो को गुस्सा आ गया तो पिंकी ने जीतो से पूछा, "यह लंड कितने प्रकार के होते हैं?"

    जीतो: लंड भी तीन प्रकार के ही होते हैं। 20 साल की उम्र में सफेदे के पेड़ की तरह, बड़ा और सख्त। 30-40 साल की उम्र में पॉपुलर के पेड़ की तरह, लचीला पर अच्छा और 50 साल की उम्र के बाद क्रिसमस ट्री जैसा।

    पिंकी: क्रिसमस ट्री जैसा?

    जीतो: हाँ जो सिर्फ दिखावे के लिए है।
  • कंडोम के पैकेट!

    संता अपने बेटे पप्पू के साथ एक स्टोर पर गया। जब वो दवाइयों वाले हिस्से से गुज़र रहे थे तो पप्पू ने कंडोम देखे और बोला, "पापा, यह क्या है?"

    संता ने सोचा कि बच्चा बड़ा हो रहा है तो इसे इसके बारे में बता देना चाहिए। इसलिए वो बोला, "बेटा इसे कंडोम कहते हैं। आदमी इन्हे सुरक्षित सेक्स करने के लिए इस्तेमाल करते हैं।"

    पप्पू: ओह! अच्छा मैंने अपने स्कूल में हेल्थ की क्लास में इसके बारे में सुना था।

    जब वो आगे चलने लगे तो पप्पू ने एक 3 कंडोम वाला पैकेट उठाया और अपने पापा से पूछा, "इसमें 3 कंडोम क्यों हैं?"

    संता: यह दरसल कॉलेज जाने वाले लड़कों के लिए हैं। एक शुक्रवार, एक शनिवार और एक रविवार के लिए।

    पप्पू ने एक और 6 कंडोम वाला पैकेट उठाया और अपने पापा से पूछा, "इसमें 6 कंडोम क्यों हैं?"

    संता: यह बेटा उन कुंवारे लड़कों के लिए हैं जो हमेशा हो मस्ती में रहते हैं। 2 शुक्रवार के लिए, 2 शनिवार के लिए और 2 रविवार के लिए।"

    फिर पप्पू ने 12 कंडोम का एक पैकेट उठाया और पूछा, "पापा, यह 12 कंडोम कौन इस्तेमाल करता है?"

    संता ने गहरी सांस ली और बोला, "यह बेटा शादी-शुदा आदमियों के लिए है। एक जनवरी, एक फ़रवरी, एक मार्च......पूरे साल भर के लिए!"
  • शायराना इश्क़!

    एक बार संता एक लड़की के घर के चक्कर लगा रहा होता है कि तभी लड़की अपने घर से बाहर निकल कर आ जाती है। यह देख संता उस से कहता है, " क्या तुम मुझसे शादी करोगी?"

    लड़की: नहीं।

    संता: पर क्यों।

    लड़की: क्योंकि मैंने सोचा है कि मैं एक शायर से ही शादी करुँगी।

    यह सुन संता जवाब देता है, "अरे तो मैं भी तो शायर ही हूँ"।

    लड़की: मैं कैसे मान लूँ? अगर तुम सच में शायर हो तो कुछ सुनाओ।

    संता: इतनी हिम्मत करके आया हूँ तेरे दर आ करीब आ मेरी ज़िन्दगी सुधार दे;
    इतनी हिम्मत करके आया हूँ तेरे दर आ करीब आ मेरी ज़िन्दगी सुधार दे;
    चूत नहीं देनी तो कोई बात नहीं कम से कम मुट्ठ ही मार दे!

    संता की शायरी सुन कर लड़की का पारा सातवें आसमान पर पहुँच जाता है पर फिर भी वह कहती है, "तुम्हारी शायरी सुन कर मेरा भी मन कर रहा है कि मैं तुम्हारे प्रस्ताव का जवाब शायराना अंदाज़ में ही दूँ।"

    संता: हाँ हाँ, क्यों नहीं।

    लड़की: तू मेरी गली से गुजरा तो तुझे चौबारा नज़र आया;
    तू मेरी गली से गुजरा तो तुझे चौबारा नज़र आया;
    गांड फाड़ दूंगी भोंसड़ी के जो दोबारा नज़र आया!
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT